मधुमक्खियों ने ऐसा काटा न भाग सका न बच पाया:22 साल के दिव्यांग युवक की तड़प-तड़पकर मौत, 3 दिन से था अस्पताल में भर्ती

झालरापाटन10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मधुमक्खी के काटने से घायल 22 वर्षीय विकलांग रामबाबू की मौत हो गई। रामबाबू पर 17 फरवरी को गर्दन खेड़ी गांव में मधुमक्खियों ने हमला किया था। विकलांग होने की वजह से ना भाग पाए और ना ही खुद को बचा पाए। मधुमक्खियों के जहरीले डंक से उनकी हालत गंभीर हो गई थी। जिसके बाद उन्हें उपचार के लिए पिड़ावा अस्पताल ले जाया गया।

मधुमक्खियों के काटने के बाद युवक सूजा चेहरा
मधुमक्खियों के काटने के बाद युवक सूजा चेहरा

3 दिनों से अस्पताल में चल रहा था इलाज
22 वर्षीय रामबाबू पिछले 3 दिनों से झालावाड़ जिला अस्पताल में जिंदगी के लिए जंग लड़ रहा था, आखिर में दम तोड़ दिया। युवक की कल देर रात 1:00 बजे बाद उपचार के दौरान झालावाड़ जिला अस्पताल में मौत हो गई।

पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंपा गया शव
सूचना मिलने के बाद आज पिड़ावा पुलिस सुबह 10:00 बजे रामबाबू के शव का पोस्टमार्टम के लिए झालावाड़ अस्पताल पहुंची लेकिन रामबाबू के परिजनों ने पोस्टमार्टम के लिए इंकार कर दिया। पुलिस ने परिजनों से लिखित में रिपोर्ट लेकर शव परिजनों को सौंप दिया है।

खबरें और भी हैं...