पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

सरकारी सिस्टम पर सवाल:3 माह पहले हो गया आवंटन, अब डीलरों को सूची दी, जरूरतमंदों को गेहूं-चना देने में सुस्ती

झालावाड़12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • अभी तक केवल 43% ही वितरण हो पाया

सरकारी सिस्टम की सुस्ती देखनी हो तो असहाय परिवारों को मिलने वाले गेहूं ओर चने के वितरण में देखी जा सकती है। जिले में जिस गेहूं-चने का आवंटन 27 जुलाई को हो गया था, उसका वितरण अक्टूबर माह में शुरू हो पाया। यहीं नहीं अभी वितरण भी इतनी धीमी गति से है कि केवल 43 फीसदी लोगों तक ही राशन सामग्री पहुंच पाई है।दरअसल कोरोनाकाल में लगे लॉकडाउन में जिन लोगों के व्यापार प्रभावित हुए साथ ही कई लोगों ने अपनी नौकरियां भी गंवाईं। यह लोग खाद्य सुरक्षा योजना में शामिल नहीं थे। ऐसे ही लोगों को फायदा पहुंचाने के लिए योजना शुरू की गई। इसमें प्रति परिवार प्रति सदस्य 10 किलो गेहूं, और दो किलो चना प्रति परिवार देना था। सरकार ने इसके लिए 27 जुलाई को 12.77 मीट्रिक टन चना और 238 मीट्रिक टन गेहूं का आवंटन किया। जयपुर मुख्यालय से असहाय लोगों की सूची भी यहां भेजी गई, लेकिन रसद विभाग ने यह सूची अक्टूबर में राशन डीलरों को सौंपी। ऐसे में असहाय लोगों को गेहूं ओर चना वितरण में देरी पर देरी हो रही है।

7 अक्टूबर तक केवल 5 फीसदी ही गेहूं-चना बंटाअसहाय लोगों के लिए गेहूं और चना वितरण 7 अक्टूबर तक केवल 5 फीसदी लोगों को ही हो पाया था। इसके बाद 15 अक्टूबर तक रफ्तार तो बढ़ी, लेकिन फिर भी केवल 43 फीसदी लोगों तक ही गेहूं और चना पहुंच पाया। जिले में 6162 परिवारों के 22330 सदस्यों को प्रभावित माना गया है। इसके तहत 7 अक्टूबर तक 294 परिवारों के 1192 लोगों को ही गेहूं और चना मिल पाया। इन लोगों को 11845 किलो गेहूं और 528 किलो चना मिला। यानी कुल वितरण केवल 5 फीसदी ही हो पाया। इसी तरह 15 अक्टूबर की बात करें तो 2640 परिवारों के 10349 लोगों तक ही गेहूं और चना पहुंच पाया। इन लोगों को 1 लाख 2 हजार 757 किलो गेहूं और 4507 किलो चने का वितरण ही हो पाया।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप अपनी दिनचर्या को संतुलित तथा व्यवस्थित बनाकर रखें, जिससे अधिकतर काम समय पर पूरे होते जाएंगे। विद्यार्थियों तथा युवाओं को इंटरव्यू व करियर संबंधी परीक्षा में सफलता की पूरी संभावना है। इसलिए...

और पढ़ें