जानलेवा हाे रहा काेराेना:जिले में फिर 7 मरीजाें ने कोरोना से ताेड़ा दम, 542 नए पॉजिटिव मिले

झालावाड़6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
झालावाड़. जिला अस्पताल के काेविड वार्ड में मरीजाें की संख्या बढ़ने से बेड की कमी हाेने लगी है। - Dainik Bhaskar
झालावाड़. जिला अस्पताल के काेविड वार्ड में मरीजाें की संख्या बढ़ने से बेड की कमी हाेने लगी है।
  • जिले में इस महीने मिले 3848 मरीज, चार महिलाअाें और तीन वृद्धों की मौत

जिले में कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है। गुरुवार देर रात जारी रिपाेर्ट में 542 नए कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। इसके अलावा 7 कोरोना मरीजों ने जिला अस्पताल में उपचार के दाैरान दम भी तोड़ दिया। अब जिले में संक्रमितों की कुल संख्या 8207 हो गई है। इनमें से 5478 रिकवर हो गए हैं, जबकि एक्टिव केस की संख्या बढ़कर 2656 हो गई है। जिले में कोरोना से अब तक 75 मौतें हो चुकी हैं। इनमें 33 मौतें इसी महीने में हुई है। जिला अस्पताल स्थित कोविड अस्पताल में उपचार के दाैरान पचपहाड निवासी 55 वर्षीय पुरुष के अलावा बुधवार देर रात इलाज के दौरान दम तोड़ दिया।

इसी तरह गिंदौर, झालरापाटन निवासी 50 वर्षीया महिला, भवानीमंडी निवासी 35 वर्षीया महिला, चौमहला निवासी 50 वर्षीया महिला, झालावाड़ निवासी 83 वर्षीय वृद्ध, झालरापाटन निवासी 42 वर्षीया महिला व पिडावा निवासी 50 वर्षीय वृद्ध ने गुरुवार देर शाम कोविड आईसीयू में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। सीएमएचओ डॉ. साजिद खान ने बताया कि गुरुवार को विभिन्न स्थानों से 1130 सैंपल लिए गए थे, जिनको जांच के लिए झालावाड़ मेडिकल कॉलेज भेजा गया। टेस्ट करने पर 542 जनों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। नए संक्रमितों में झालावाड़ जिले के अलावा मध्यप्रदेश व कोटा जिले के मरीज भी शामिल हैं।

ऑक्सीजन बेड की ज्यादा जरूरत, कर रहे जुगाड़ अस्पताल में ऑक्सीजन बेड की सबसे ज्यादा जरूरत है और इनकी कमी चल रही है। ऐसे में कोविड मरीजों को संभाल रहे नर्सिंगकर्मी मरीज की जान बचाने के लिए जुगाड़ करने से भी पीछे नहीं हट रहे हैं। बुधवार रात एक मरीज को ऑक्सीजन की जरूरत पड़ी, लेकिन कोई ऑक्सीजन बेड खाली नहीं था। इस पर नर्सिंगकर्मी ने जुगाड़ कर एक सिलेंडर से दो जनों को ऑक्सीजन दी।

दो दिन बाद रेमडे सिविर इंजेक्शन मिले, वे भी आधे कोविड मरीजों की जान बचाने के लिए दो दिन से मरीज रेमडेसिविर इंजेक्शन का इंतजार कर रहे थे। बुधवार रात इंजेक्शन ताे मिले, लेकिन आधे अधूरे। अस्पताल अधीक्षक डॉ. संजय पारेवाल ने बताया कि अस्पताल में 300 से अधिक मरीजों को रेमडेसिविर इंजेक्शन लगाने हैं, लेकिन 150 इंजेक्शन ही मिले जो मरीजों को लगा दिए गए। उच्चाधिकारियों द्वारा आगे लगातार सप्लाई देने की बात कही थी, लेकिन गुरवार शाम को भी इंजेक्शन की सप्लाई नहीं दी गई।

अब गंभीर मरीज ही रहेंगे जिला अस्पताल में जिला एसआरजी अस्पताल में लगातार बेड की कमी हो रही है, इसको देखते हुए अस्पताल प्रशासन ने अस्पताल में केवल गंभीर मरीजों को ही रखने का निर्णय लिया है। शेष ऐसे मरीज जो पॉजिटिव हैं, लेकिन उनमें काेराेना के लक्षण नहीं है उनको क्वारेंटाइन सेंटर भेजा जाएगा या उनको होम आइसोलेट किया जाएगा।

कोरोना संक्रमण से पत्नी की मौत और पति कोटा रैफर अकलेरा. कस्बे में गुरुवार को कोरोना संक्रमित एक युवक और एक महिला की मौत हो गई है। जिस महिला की मृत्यु कोरोना से हुई उसके पति की भी हालत गंभीर है। जिसे परिवार के लोग निजी अस्पताल से लेकर कोटा गए हैं। चिकित्सा प्रभारी सत्येंद्र नोहरावत ने बताया कि माह में कोरोना से 6 लोगों की जान जा चुकी है।एक ही परिवार के 13 लोग पॉजिटिव, प्रशासन अलर्टडग. कस्बे के बुधवारिया मुख्य बाजार में रहने वाले एक परिवार में 13 लोगों रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। कुछ दिन पूर्व इस परिवार के एक व्यक्ति की मौत भी हो चुकी है। प्रशासन ने घर व मुख्य मार्ग के दोनों ओर बेरिकेड्स लगाकर उस क्षेत्र को कंटेन्मेंट जोन घोषित कर दिया है।

गंगधार एसडीएम जनकसिंह, गंगधार डीएसपी बृजमोहन मीणा, डग एसएचओ बन्नालाल चौधरी, डग नायब तहसीलदार शिवनारायण रावत ने लोगों से गाइडलाइस की पालना करने की अपील की।31 नए संक्रमित के साथ 175 हुई पॉजिटिव की संख्याभवानीमंडी. शहर में बुधवार रात को आई कोरोना रिपोर्ट में 31 नए मरीज आए है। जिससे शहर मे संक्रमित व्यक्तियों की संख्या 175 पर पहुंच गई। चिकित्सा अधिकारी प्रभारी डॉ रोहिताश्व कुमार ने बताया की बुधवार शाम बस स्टैंड निवासी 55 वर्षीय महिला की मौत के बाद गुरुवार को े उषा कॉलोनी निवासी व्यक्ति ने भी दम तोड़ दिया।

खबरें और भी हैं...