आफत / कालीसिंध थर्मल पावर प्लांट परिसर और बकानी के राजपुरा पहुंचा टिड्डी दल

X

  • सर्वे करने पर पाया गया कि लगभग 150 हैक्टेयर क्षेत्र में टिड्डी प्रकोप

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 08:04 AM IST

झालावाड़. जिले में टिड्डी दल गुरुवार को कालीसिंध थर्मल पावर प्लांट परिसर में प्रवेश कर गया था, जिसके बाद कृषि विभाग द्वारा चलाए गए सघन टिड्डी नियंत्रण अभियान के बाद शेष रही टिड्डियों ने उड़कर शुक्रवार को बकानी तहसील के राजपुरा ग्राम में तालाब, पंचायत भूमि व आसपास के खेतों में पहुंच गया। 
कृषि विभाग के कार्मिक टिड्डी दल का पीछा करते हुए राजपुरा ग्राम में पहुंचे। जहां पर क्षेत्र का सर्वे करने पर पाया गया कि लगभग 150 हैक्टेयर क्षेत्र में टिड्डी प्रकोप है, जिन पर रात्रि 12 बजे से लेकर सुबह 8 बजे तक 7 ट्रैक्टर चलित स्प्रेयर व टिड्डी नियंत्रण कार्यालय के विशेष स्प्रेयर द्वारा कीटनाशी रसायनों का छिड़काव किया गया। कीटनाशी रसायनों के छिड़काव से लगभग 70-80 प्रतिशत टिड्डियां मर गई।

शेष दल तितर-बित्तर हो गई । जिस पर लगातार कृषि विभाग निगरानी बनाए हुए है। टिड्डी दल का आकार लगभग 1 किमी लम्बा व 1 किमी चौड़ा था। टिड्डी नियंत्रण दल में नियंत्रण कार्य कृषि अधिकारी भूपेन्द्रसिंह, सहायक निदेशक उद्यान कैलाशचन्द शर्मा, हरचन्दाराम मीणा, कृषि अनुसंधान अधिकारी पुष्पेंद्र खींची की देख रेख में कृषि विभाग के उप निदेशक कैलाशचन्द मीना के दिशा निर्देशानुसार किया गया।

नियंत्रण कार्य में कृषि विभाग के कार्मिक चैचालाल, ओमप्रकाश गौड़, रणजीत सिंह, महेन्द्र शर्मा, पारस मीणा, कृष्णमुरारी मीणा, प्रकाश चन्द, मांगीलाल मौजूद रहे। टिड्डी आक्रमण के मद्देनजर कलेक्टर सिद्धार्थ सिहाग द्वारा कृषि विभाग झालावाड़ के प्राप्त सूचनाओं एवं फीडबैक के आधार पर जिले को राजस्थान एग्रीकल्चर पेस्ट एंड डिजीज एक्ट 1951 के तहत झालावाड़ जिले को टिड्डी आक्रमण के खतरे वाला जिला घोषित किया गया है।

जिले में टिड्डी रोकथाम के लिए यथोचित उपाय किए जाएंगे। यह अधिसूचना 31 जनवरी 2021 तक प्रभावी रहेगी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना