नई आफत / मप्र से पहुंच रहा जिले में टिड्डियों का दल

X

  • दित्याखेड़ी गांव में टिड्डी दल को पटाखे व थाली बजाकर भगा दिया

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 06:31 AM IST

झालावाड़. जिले के कई गांवों में अब टिड्डी दल पहुंचता जा रहा है। शुक्रवार को भी रायपुर के समीप दित्याखेड़ी गांव में कई खेतों में टिड्डी दल आ पहुंचा। इससे किसानों की चिंता बढ़ने लगी हैं। टिड्डी दल मप्र से जिले की सीमाओं में अब तेजी से प्रवेश करने लगा है। हालांकि अभी खेतों में खड़ी फसलें नहीं होने से नुकसान की संभावनाएं न के बराबर है, लेकिन फिर भी आगामी फसल के बारे में किसानों की चिंता बढ़ती जा रही हैं। इधर, संतरा के बगीचों में भी टिडि्डयों के प्रवेश होते हैं तो किसानों को लाखों रुपए का नुकसान होने की आशंका रहती हैं। इसी को देखते हुए किसान अब नए-नए प्रयोग कर टिडि्डयों को मारने के प्रयास में जुटे हुए हैं।
2 किमी लंबा और 1 किमी चौडा है टिड्डी दल का आकार
कृषि विभाग के उपनिदेशक कैलाशचंद मीना ने बताया कि टिड्डी दल का आकार 2 किमी लंबा और 1 किमी चौड़ा है। यहां आसानी से संतरे के बगीचों को चट कर सकता है। इटिड्डी नियंत्रण टीम में पुष्पेंद्र खींची, भूपेंद्र सिंह, मोना राठौर, सुनीता राठौर, भूपेंद्र शर्मा, कमलकांत पालीवाल मौजूद रहे। उपनिदेशक ने बताया कि कंट्रोल रूप 07432232345 पर सूचना दे सकते हैं।
बनाया कंट्रोल रूम
इधर, कृषि विभाग ने कंट्रोल रूम बना दिया है। किसानों को हिदायत दी है कि जैसे ही टिड्डी दल उनके खेतों या बगीचों में दिखाई दे तो तुरंत ही कंट्रोल रूम सहित कृषि अधिकारियों को सूचना दें। कृषि विभाग ने भी माना है कि भिलवाड़ा गांव में गुरुवार शाम छह बजे अचानक टिड्डी दल खेतों में पहुंच गया। किसानों ने पटाखों, थाली, ट्रैक्टर के हॉर्न बजाकर ध्वनि की। इसके बाद जैसे ही किसानों ने कृषि विभाग को सूचना दी तो कृषि विभाग और कालीसिंध थर्मल पावर प्लांट की अग्निशमन टीम ने 100 हैक्टेयर क्षेत्र में कीटनाशी रसायनों का छिड़काव किया। इससे करीब 50 प्रतिशत टिडि्डयां मारी गईं। 
बकानी क्षेत्र में भी टिड्डियाें का हमला

 क्षेत्र के कई गांवों में टिड्डियों के दल ने दस्तक दे दी। शुक्रवार को दोपहर के समय हवा में उड़ते हुए आए टिड्डियों के दलों ने जायद की फसलों को नष्ट करना शुरू कर दिया है। दीवड़ी, ख़ातीखेड़ा, सूरी, पांडकी, राजपुरा, निपानिया गुजरानं में टिड्डियों ने फसलों में हमला बोल दिया। जिससे खेतों में मक्का, सूड़, धनिया की फसलों काे नुकसान हुआ है।  निपानिया गुजरान के किसान भैरुलाल गुर्जर, व सुरी के दयानंद गुर्जर ने बताया कि खेताें में थालियां बजाकर टिड्डियों को भगाने का प्रयास किया। किसानों ने अधिकारियों को सूचना दी,लेकिन कोई नहीं पहुंचा।
रटलाई क्षेत्र में नुकसान

 क्षेत्र के गाढ़ा गांव में शुक्रवार को शाम काे टिड्डी दल ने दस्तक दे दी है। टिड्डी दल के आने की खबर से ग्रामीणों में हलचल मच गई। इस दाैरान खेताें में टिड्डियाें फसलाें काे नुकसान भी पहुंचाया।  इस दाैरान किसानें ने बर्तनों को बजाकर व धुआं कर टिड्डियों को भगाया। हंसराज मीणा ने बताया कि धनिया-मक्का की फसल को नुकसान पहुंचाया।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना