जिला स्तरीय निवेश समिट:समिट में 928 करोड़ से अधिक के एलओआई और एमओयू किए

झालावाड़13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • निवेशकों की पसंद बन गया झालावाड़, यहां जमीन, पानी ओर श्रमिकों की उपलब्धता आसान, इसीलिए उद्योगों का नया कॉरिडोर बन रहा जिला

जिले में औद्योगिक विकास के क्षेत्र में गुरुवार को झालावाड़ में निवेश समिट से नया आयाम जुड़ गया। पहली बार निवेशकों ने झालावाड़ में बायो नेचुरल गैस प्लांट लगाने सहित पर्यटन, होटल ओर एग्रो इंडस्ट्रीज विकसित करने में रूचि दिखाई है। जिला स्तरीय समिट में गुरुवार को 928.56 करोड़ रुपए निवेश के एमओयू व एलओआई किए हैं। इससे 3775 लोगों को रोजगार मिल सकेगा। 35 से अधिक निवेशकों ने यहां पर निवेश के लिए झालावाड़, झालरापाटन, भवानीमंडी से लेकर बकानी और खानपुर तक में विभिन्न उद्योग विकसित होंगे। सबसे अधिक चंद्रावती ग्रोथ सेंटर ओर धानोदी ग्रोथ सेंटर में निवेश हुए हैं। जिला स्तरीय निवेश समिट का आयोजन गुरुवार को मिस्टीन होटल एवं रिसोर्ट मुंडेरी झालावाड़ में किया गया। निवेश समिट का उद्घाटन प्रभारी सचिव ओर संभागीय आयुक्त कैलाश चन्द मीना ने दीप प्रज्वलन कर किया।

इन निवेशकों के साथ किया गया एमओयू साइन: निवेश समिट में एबीजे बदर्स प्राइवेट लिमिटेड, बुरहानी फ्लोरिंग चैम्बर, चन्द्रावती फ्लोरिंग चैम्बर, चिप्सोना फूड प्राइवेट लिमिटेड, अन्नपूर्णा एमआरआई सेन्टर, एनएम इण्डस्ट्रीज, विश्वेश्वर क्लीन फ्यूल्स प्राइवेट लिमिटेड, महुधरा क्लीन फ्यूल्स प्राइवेट लिमिटेड, बनास मिनरल्स प्राइवेट लिमिटेड के साथ एमओयू साइन किया गया। इसी तरह महावीर ट्रेडिंग कम्पनी, ग्लोबल मिनरल्स एण्ड केमिकल्स, रितु एग्रो फूड एण्ड स्पाईसेस, प्रसन्नाथ टेडर्स, एटलस स्टील, संकल्प एग्रो इण्डस्ट्रीज, अग्रवाल सप्लायर द्वारा रीको के साथ एमओयू साइन किया गया।

इन निवेशकों को प्रदान किए लेटर ऑफ इन्टेन्ट
निवेश समिट में अमोलक एग्रोटेक, कन्हैयालाल वेयर हाउस, अवनी कृषि सेवा केन्द्र पिड़ावा, अश्वमेधा प्राइवेट लिमिटेड, मीडिया वोयागे प्राइवेट लिमिटेड, गुप्ता इण्डस्ट्रीज, दृष्टि क्लीन फ्यूल्स प्राइवेट लिमिटेड, तुलसी आंगन, सोनिया अरोड़ा आईटी फर्म, होटल अमनप्रीत सिंह बग्गा, मुकुन्दरा वैदिक विलेज एग्रो प्रोसेसिंग एग्रो टूरिज्म एण्ड एन्टरप्रयून्योरशिप क्लब, काया वर्णेश्वर क्लीन फ्यूल प्राइवेट लिमिटेड, मीरा क्लीन फ्यूल्स लिमिटेड के प्रतिनिधियों को लेटर ऑफ इन्टेन्ट प्रदान किया गया। इस दौरान जिला उद्योग केन्द्र के महाप्रबंधक हरिमोहन शर्मा ने झालावाड़ की इण्डस्ट्रीयल प्रोफाइल को पीपीटी के माध्यम से प्रस्तुत किया। वहीं डीडीएम नाबार्ड भवानीशंकर मीना ने झालावाड़ में आर्थिक विकास की संभावना पर प्रस्तुति दी। डीजीएम रीको एमके शर्मा ने आभार व्यक्त किया। साथ ही इस दौरान रीको के ‘‘विकास की संभावनाएं‘‘ फोल्डर का विमोचन भी किया गया।

कार्यक्रम में किसने क्या कहा इन्वेस्ट समिट में जिले के प्रभारी मंत्री प्रमोद जैन भाया ने अपने वर्चुअल सम्बोधन में उद्योगपतियों और निवेशकों से कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की भावना के अनुरूप झालावाड़ में नए उद्योग स्थापित होने से यहां के स्थानीय युवाओं के लिए रोजगार के नए अवसर उपलब्ध होंगे। उद्योग मंत्री शकुंतला रावत ने कहा कि राज्य सरकार की 2019 की उद्योग प्रोत्साहन नीति के अनुसार निवेशकों को नए उद्योग स्थापित करने के लिए एक ही छत के नीचे सारे विभागों की सुविधाएं मिल रही हैं। निवेश समिट के मुख्य अतिथि प्रभारी सचिव ने कहा कि सरकार की उद्योग प्रोत्साहन नीति-2019 राज्य सरकार की प्रदेश में नए उद्योगों के लिए अनुकूल माहौल पैदा करने की दूरदृष्टि सोच है। उन्होंने उद्योगपतियों व निवेशकों का आह्वान किया कि वे झालावाड़ एवं प्रदेश को खुशहाल बनाने के लिए अधिक से अधिक निवेश करें। जिले में एग्रो टूरिज्म एवं इको टूरिज्म की अपार संभावना हैं। कलेक्टर हरिमोहन मीना ने कहा कि झालावाड़ में रेल, सड़क एवं हवाई पट्टी की कनेक्टिविटी होने के साथ-साथ बिजली, पानी की पर्याप्त मात्रा में उपलब्धता उद्योग लगाने के लिए अनुकूल वातावरण का निर्माण करती है। खानपुर विधायक नरेन्द्र नागर ने कहा कि जिले में नए उद्योग स्थापित होने से बेरोजगारी की समस्या दूर होगी और कृषि प्रसंस्करण में निवेश से जिला निश्चित तौर पर आगे बढ़ेगा। मनोहरथाना विधायक गोविंद रानीपुरिया ने कहा कि इस प्रकार के निवेश से जिले के साथ-साथ राजस्थान की भी आर्थिक प्रगति होगी। बीस सूत्रीय कार्यक्रम उपाध्यक्ष वीरेंद्र सिंह गुर्जर ने भी विचार व्यक्त किए।

खबरें और भी हैं...