पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

 रमजान में तीन अशरे:मंझला रोजा आज, रोजेदार घरों पर ही कर रहे हैं इबादत

झालावाड़5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पहला अशरा रहमत का, दूसरा माफी का होता है और तीसरा जहन्नुम की आग से बचाने के लिए

रहमतों और बरकतों वाले पवित्र माह रमजान का मंझला रोजा शुक्रवार को रहेगा। इस दिन घरों में फातिहा होगी। और लोग अधिक समय इबादत में बिताएंगे। रमजान मुबारक का महीना तेजी से आगे बढ़ रहा है। गुरुवार को 13वां रमजान रहा। कोरोना संक्रमण के चलते लोग इन दिनों घरों में ही इबादत कर रहे हैं। दरअसल रमजान मुबारक के पहले दस दिन यानी पहला अशरा रहमत का होता है, वह मुकम्मल हो चुका है। अभी वर्तमान में  दूसरा अशरा चल रहा है, जिसमें मंझला रोजा आता है। इस दिन दूसरा जुमा मुबारक भी है। हालांकि अकीदतमंद घरों पर ही रहकर नमाज अदा करेंगे।  इस दूसरे अशरे में अकीदतमंद अधिक से अधिक इबादत कर रूहानी फेज हासिल कर रहे हैं। रमजान के महीने में तीन अशरे होते हैं। पहला अशरा रहमत का होता है, दूसरा अशरा मगफिरत यानी गुनाहों से माफी का होता है और तीसरा अशरा जहन्नुम की आग से खुद को बचाने के लिए होता है। रमजान के दूसरे अशरे में मुसलमान अपने गुनाहों से पवित्र हो सकते हैं। इस अशरे में अपने गुनाहों की माफी मांगते रहना चाहिए। वहीं रमजान के आखिरी अशरे में जहन्नुम की आग से खुद को बचा सकते हैं। खुदा की रहमत पाने के लिए बंदों को ज्यादा से ज्यादा कुरआन शरीफ की तिलावत करना चाहिए। इसका कारण यह है कि  रमजान  ही वह महीना है जिसमें कुरआन शरीफ नाजिल किया गया। 

अधिकतर वक्त इबादत में बिताएं
हाफिज इनायतुल्ला ने बताया कि रमजान का महीना 29 या 30 दिन का होता है। मंझला रोजा यानी 14वें रोजे  को इस मुबारक महीने का आधा हिस्सा पूरा हो जाएगा। लोग नेकी के इस महीने की कद्र करें। यह महीना नेकी कमाने का महीना है, इसमें अधिक से अधिक समय इबादत में गुजारे। 
इफ्तार के बाद भी हल्का खाना लें
पिड़ावा सीएचसी में फिजिशियन डॉ.रईस मोहम्मद ने बताया कि भीषण गर्मी के दौर में रमजान में खाने का खास ध्यान रखना चाहिए। इफ्तार के बाद भी हल्का खाना लें। ज्यादा से ज्यादा लिक्विड का उपयोग करें। फ्रिज के पाने से बचें। सेहरी के वक्त खजूर, ग्लोकोज लें।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का दिन पारिवारिक व आर्थिक दोनों दृष्टि से शुभ फलदाई है। व्यक्तिगत कार्यों में सफलता मिलने से मानसिक शांति अनुभव करेंगे। कठिन से कठिन कार्य को आप अपने दृढ़ विश्वास से पूरा करने की क्षमता रखे...

और पढ़ें