मंदिरों-घराें में होगी घट स्थापना:शारदीय नवरात्र आज से डोली पर आएगी माता

झालावाड़20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

शारदीय नवरात्र गुरुवार से प्रारंभ हो रहे हैं। वर्ष 2021 में शरद नवरात्रि का पर्व गुरुवार से आरंभ हो रहा है, इसका अर्थ ये है कि इस बार मां दुर्गा ‘डोली’ पर सवार होकर आएंगी। विशेष बात ये है कि मां दुर्गा डोली पर सवार होकर ही प्रस्थान करेंगी। डोली पर सवार होकर जब मां दुर्गा आती हैं तो सुख-समृद्धि आती है, रोग आदि दूर होते हैं। इस बार चतुर्थी तिथि क्षय होने के कारण नवरात्रि में व्रत-आराधना 8 दिन ही हो सकेंगे। विजयादशमी का त्योहार 15 अक्टूबर को मनाया जाएगा। पंडित प्रशांत शुक्ला ने बताया कि शारदीय नवरात्र गुरुवार से शुरू होकर अगले गुरुवार को पूरे होंगे। इस दौरान मां भगवती, संकट मोचन हनुमान जी की आराधना का विशेष महत्व एवं फल है। व्रत नियम का पालन करने वाले कई भक्त 9 दिनों तक बिना जल एवं आहार के भी आराधना करते हैं।

ब्रह्मचर्य का पालन करते हैं। कई व्रतधारी 9 दिन मौन व्रत रखते हैं, नंगे पैर रहते हैं।घट स्थापना व पूजन मुहूर्त चौघडिय़ा समयपंडित प्रशांत शुक्ला के अनुसार{अभिजीत प्रात: 11.40 से 12.40{630. से 7 बजे तक शुभ का मुहूर्त{10.30 से 12 बजे तक चर का मुहूर्त{12.30 से डेढ़ बजे तक लाभ का मुहूर्त{12.30 से 1.30 लाभ का मुहूर्त{1.30 से 3 बजे तक अमृत का मुहूर्त{4.30 से 7 बजे तक अमृत ओर लाभ का मुहूर्त रहेगा।नवरात्र के 8 में से 6 दिन रवियोग: 8 में से 6 दिन 8,9,10,11,12,14 अक्टूबर को रवियोग रहेगा। योग में शुभ कार्यों के लिए खरीददारी,गृह प्रवेश, वर वरण व सगाई के लिए शुभ रहेगा। रवियोग शासन से संबंधित किसी कार्य का प्रारंभ व वस्त्राभूषण और वाहन खरीदारी मंगलकारी रहेगी।

खबरें और भी हैं...