डेंगू का डंक:अब डरा रहा डेंगू... राेज मिल रहे 20-25 नए मरीज

झालावाड़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिला अस्पताल में डेंगू एलाइजा पॉजिटिव की संख्या 143 हुई, इनडोर वार्ड फुल हुए तो अब कोराेना अस्पताल में भर्ती कर रहे हैं मरीज, जिला ब्लड बैंक से प्रतिदिन 50 मरीजों को जारी हाे रही है एसडीपी

जिले में डेंगू का प्रकोप बढ़ता जा रहा है। अस्पताल में मरीज बढ़ बढ़ने से इनडोर वार्ड फुल हो गया है। मरीजों को अब कोविड अस्पताल की बिल्डिंग में भर्ती करना पड़ रहा है। यहां भी मौसमी बीमारियों के करीब 80 मरीज भर्ती हैं। प्रतिदिन जांचों में 20 से 25 नए डेंगू पॉजिटिव मिल रहे हैं। विशेषज्ञ डॉक्टरों का कहना है कि मौसम में नमी और लगातार बारिश से खेतों में पानी भरने से फसलें सड़ रही हैं। इससे मच्छर तेजी से पनप रहे हैं। यानी, सामान्य दिनों में एक दिन में पांच मच्छर पैदा होते हैं तो अभी इनकी संख्या 10 हो रही है। विशेषज्ञों की माने तो इस बार जिले में 1095 एमएम बारिश हुई है।

अभी भी बारिश का दौर जारी है। ऐसे में शहर और ग्रामीण क्षेत्रों में खुले स्थानों और ग्रामीण क्षेत्र में खेतों पर पानी सड़ रहा है ,जहां मच्छर पनप रहे और लोगों को काट रहे हैं। जिला प्रशासन के पास इतने संसाधन भी नहीं है कि जिलेभर में फोगिंग या एंट्री लार्वा गतिविधियां करवाई जा सके। इससे सितंबर माह में ही 143 डेंगू पॉजिटिव जिला एस आरजी अस्पताल में जांच के दौरान सामने आए हैं। इधर, स्वास्थ्य विभाग की माने तो जिले में 34 डेंगू और 10 स्क्रब टाइफस पॉजिटिव बताए जा रहे हैं।

इसलिए फैल रहा डेंगू; शहर में कई जगहों पर गड्‌ढों व खुले प्लाटों में व खेतों में बारिश का पानी भरा रहने से फसलें सड़ रही, इसलिए मच्छर दुगनी तेजी से पनप रहे, यही डेंगू के प्रकोप का कारण

50 मरीजों को चढ़ानी पड़ रही प्लेटलेट्सडेंगू का प्रकोप हावी है कि लोगों के शरीर को तोड़ रहा है। इसके अलावा प्लेटलेट्स कम हो रही है। ऐसे में प्रतिदिन 50 मरीजों को प्लेटलेट्स की जरूरत पड़ रही है। जिला ब्लड बैंकके अनुसार सामने आया कि उनके द्वारा प्रतिदिन 50 मरीजों को एसडीपी जारी कर रहें है। बीच में इनकी संख्या 60 पहुंची है। इससे अंदाजा लग सकता है कि डेंगू का प्रकोप किस हद तक है।

जांचें तक नहीं हो रही मरीजों की जिला अस्पताल में मरीज बढ़ने से ओपीडी संख्या 3300 तक पहुंच गई है। मौसमी बीमारियों और डेंगू की आशंका के चलते हर चौथे मरीजों को सीबीसी, डेंगू, विडाल आदि की जांचे लिखी जा रही है। मरीजों के सैंपल भी लिए जा रहे हैं, लेकिन लैबों में इनकी जांचें नहीं हो पा रही है। ऐसे में मरीज को इलाज के लिए एक दिन का और इंतजार करना पड़ रहा है। 2 बजे तक मरीज जांच आने का इंतजार करते हैं, लेकिन उनकी जांच रिपोर्ट नहीं आती है।

जिला अस्पताल में तीन माह में डेंगूमाह सैंपल एलाइजा कार्ड पॉजिटिवजुलाई 1450 टेस्ट नहीं 2अगस्त 1733 टेस्ट नहीं 25सितंबर 3228 143 182

खबरें और भी हैं...