पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

फिर 56 नए राेगी मिले:पिछले साल 7 अप्रैल को पहली बार मिले थे दो रोगी, अब सात दिन में ही 247 पाॅजिटिव

झालावाड़10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • झालावाड़ में सबसे अधिक 23 और झालरापाटन में 17 मरीज मिले

जिले में बुधवार को फिर एक साथ 56 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। सबसे अधिक झालावाड़ में 23 और झालरापाटन ब्लॉक में 17 मरीज मिले हैं। अब संक्रमितों की कुल संख्या 5030 हो गई है। इसमें से 4718 रिकवर हो गए है। एक्टिव केस की संख्या बढ़कर 268 हो गई है।सीएमएचओ डॉ. साजिद खान ने बताया कि बुधवार काे मिले 56 नए पॉजिटिव में सबसे अधिक 23 झालावाड़, झालरापाटन 17, भवानीमंडी 5, अकलेरा 4, खानपुर 3, पिडावा व बकानी में 2-2 पॉजिटिव मिले हैं। झालावाड़ जिले में कोरोना को बुधवार को एक साल पूरा हो गया। पिड़ावा के दलेलपुरा में 2 अप्रैल 2020 को पहला रोगी मिला था।

इसी के साथ जिले में कोरोना ने दस्तक दी थी। बढ़ते मरीजों के बीच 31 जुलाई को एक राेगी की मौत हो गई। पूरे साल में 5030 रोगी मिले, जबकि अभी तक 44 लोगों की जान कोरोना ने ले ली। सबसे ज्यादा मरीज अगस्त में 1545 मरीज मिले। दिसंबर में आंकड़ा 4000 के पार हो गया।साल बदला और जनवरी-2021 में मरीजों की संख्या 250 से नीचे आ गई। फरवरी भी राहत वाला रहा, केवल 57 मरीज ही सामने आए, लेकिन मार्च में कोरोना ने फिर रंग दिखाना शुरू कर दिया। मार्च में कुल 260 रोगी मिले। हालात फिर 2020 जैसे नजर आने लगे। 1 अप्रैल के बाद तो कोरोना और भयावह हो गया और संक्रमितों की संख्या 30 के पार हो गई। 7 अप्रैल को रिकाॅर्ड 56 मरीज सामने आए और छह दिनों ही 247 मरीज सामने आ गए। इसके अलावा 2 लोगों की जान भी जा चुकी है।

वैक्सीन की दोनों डोज लगाने के बाद चिकित्सा प्रभारी की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव

खानपुर. राजकीय अस्पताल के चिकित्सा प्रभारी डॉ. धीरेंद्र गोपाल मिश्रा के कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लगाने के बाद भी चौथी बार भी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई। ब्लाक चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मुकेश कुमार नागर ने बताया कि चिकित्सा प्रभारी डॉ. मिश्रा को खांसी, जुकाम के साथ कोरोना के लक्षण नजर आने पर आरटी पीसीआर सैंपल लिया गया था। जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई। चिकित्सा प्रभारी को प्रथम डोज 23 जनवरी व दूसरी डोज 22 फरवरी को लगाई गई थी। दोनों डोज के बाद भी चौथी बार रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। उन्होंने कहा कि वैक्सीन 90 प्रतिशत तक कारगर साबित हो रही है। चिकित्सालय में चिकित्सक नहीं होने से रोगी परेशान हो रहे हैं।

इस साल 15 जनवरी से कोरोना मरीजों की संख्या इकाई में आ गई थी। पूरे महीने में 247 रोगी मिले। संक्रमण की दर भी 0.23 प्रतिशत हो गई। फरवरी में आंकड़ा और कम हो गया। महज 57 ही मरीज मिले और संक्रमण दर 0.4 प्रतिशत हो गई। एक्टिव केस भी 5 रह गए। इसके बाद मास्क के साथ सोशल डिस्टेंसिंग को भूल कर हम भीड़ का हिस्सा बनने लगे। नतीजतन 22 मार्च को शहर में पहला कोरोना विस्फोट हुआ और इसके बाद हालात बिगड़ते ही गए। अब अप्रैल में प्रतिदिन आने वाले मरीजों की संख्या 50 पार हो गई है।

2020 : नौ में से चार माह नाइट कर्फ्यू जैसी बंदिशें झेली, 2 माह घरों में कैद रहे

पहला रोगी: पिड़ावा में दलेलपुरा मोहल्ले में 7 अप्रैल को मिला। आधे कस्बे में कर्फ्यू{पहली मौत- 31 जुलाई को रायपुर कस्बे में 66 वर्षीय की कोरोना के चलते दम तोड़ा।{पहले 1000 रोगी 15 अगस्त को हुए।

पूरे साल में 42 लोगों की जान गईमाह सैंपल मरीज मौतेअप्रैल 2413 40 0मई 7276 229 0जून 13668 108 0जुलाई 21012 178 1अगस्त 14631 1545 0सितंबर 10913 1202 19अक्टूबर 5879 253 10नवंबर 5917 384 3दिसंबर 13153 341 7

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज मार्केटिंग अथवा मीडिया से संबंधित कोई महत्वपूर्ण जानकारी मिल सकती है, जो आपकी आर्थिक स्थिति के लिए बहुत उपयोगी साबित होगी। किसी भी फोन कॉल को नजरअंदाज ना करें। आपके अधिकतर काम सहज और आरामद...

    और पढ़ें