रिश्वत का मामला:रिश्वत के आरोपी डाकघर के सहायक अधीक्षक को जेल भेजा

झालावाड़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सोमवार को 8 हजार की रिश्वत लेते एसीबी ने किया था गिरफ्तार

एसीबी टीम झालावाड़ ने सोमवार को प्रधान डाकघर के सहायक अधीक्षक को आठ हजार रुपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया था। मंगलवार को उसे एसीबी कोर्ट कोटा में पेश किया गया, जहां से उनको 24 दिसंबर तक न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया गया। एसीबी एएसपी भवानीशंकर मीणा ने बताया कि 9 दिसंबर को कलमंडी खुर्द, थाना सदर झालावाड़ निवासी यदुनंदन सिंह पुत्र स्वर्गीय नारायण सिंह ने चौकी पर उपस्थित होकर परिवाद पेश कर बताया कि प्रधान डाकघर के सहायक अधीक्षक तिलक नगर थाना भीमगंज भीलवाड़ा निवासी कन्हैयालाल पुत्र पूरणमल कोली ने 6 दिसंबर को वार्षिक निरीक्षण के दौरान धमकाकर विभागीय कार्रवाई नहीं करने की एवज में 10 हजार रुपए रिश्वत मांगी और उसी दिन 2 हजार रुपए रिश्वत ली और शेष राशि बाद में देने को कहा। इस पर एसीबी ने 9 दिसंबर को सत्यापन किया तो आरोपी सहायक अधीक्षक द्वारा रिश्वत लेने की पुष्टि हुई। इस पर एसीबी ने सोमवार को कार्रवाई करते हुए परिवादी यदुनंदन को 8 हजार रुपए लेकर प्रधान डाक घर स्थित सहायक अधीक्षक के केबिन में भेजा, जहां पर आरोपी सहायक अधीक्षक कोली कन्हैयालाल कोली ने 8 हजार रुपए प्राप्त कर अपनी नीली जिंस की पेंट में रख ली।

परिवादी का इशारा मिलते ही एसीबी टीम अंदर आई और आरोपी सहायक अधीक्षक की पेंट की जेब से रिश्वत राशि बरामद की। इस पर एसीबी ने उसे गिरफ्तार किया। मंगलवार को उसे एसीबी कोर्ट में पेश किया जहां से उसे जेल भेज दिया।भीलवाड़ा स्थित मकान में आज होगी सर्च कार्रवाईएसीबी एएसपी भवानीशंकर मीणा ने बताया कि सहायक अधीक्षक केएल कोली को 8 हजार रुपए रिश्वत लेते हुए ट्रेप करने के बाद आरोपी के भीलवाड़ा स्थित पैतृक मकान पर भी एसीबी सर्च कार्रवाई करने पहुंची, लेकिन यहां सहायक अधीक्षक की पत्नी ने कार्रवाई नहीं करने पर दी। इस पर उसका घर सील किया गया। अब बुधवार एसीबी महिला अधिकारी के नेतृत्व में सर्च कार्रवाई होगी।

खबरें और भी हैं...