नहर टूटने से खेतों में भरा पानी, फसलें खराब:चंवली बांधी की दायीं मुख्य नहर टूटी, मरम्मत के बाद दोबारा शुरू होगी पानी की सप्लाई

झालावाड़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
चंवली बांध की बायीं मुख्य नहर टूटी। - Dainik Bhaskar
चंवली बांध की बायीं मुख्य नहर टूटी।

झालावाड़ जिले के पिड़ावा क्षेत्र के हिम्मतगढ़ के पास देर रात चंवली बांध की नहर टूट गई। नहर का पानी नाले से होकर आसपास के खेतों में घुस गया। खेत में पानी घुसने से 1 किसान की लहसुन की फसल खराब हो गई। वहीं दो किसानों के खेतों में भी पानी भरने से फसलों को नुकसान पहुंचा है। नहर टूटने के बाद जल संसाधन विभाग द्वारा चंवली बांध पर नहर का गेट बंद करवा दिया गया है।

किसान बालचंद दांगी ने बताया कि चंवली बांध की दायीं मुख्य नहर हिम्मतगढ़ गांव के पास एक नाले के ऊपर से गुजर रही है। उसी स्थान पर देर रात अचानक नहर का एक ब्लॉक टूटकर नाले में धंस गया, जिससे नहर का पानी नाले से होता हुआ किसानों के खेतों में घुस गया। इससे एक किसान का खेत जलमग्न हो गया, जिसमें उगी लहसुन की फसल खराब हो गई। वहीं 2 अन्य किसानों के खेतों में भी जलभराव होने से फसलों को नुकसान पहुंचा है।

जल संसाधन विभाग के कनिष्ठ अभियंता रामलाल लोधा ने बताया कि क्षतिग्रस्त नहर की मौका स्थिति देखकर शीघ्र ही नहर की मरम्मत करवाई जाएगी। इसके बाद नहर में दोबारा पानी की सप्लाई शुरू की जाएगी। गौरतलब है कि चंवली बांध की दोनों नहरों से 18 नवंबर को पानी की सप्लाई शुरू की गई थी। नहरों से 34 गांव के सैकड़ों किसानों की 7800 हेक्टेयर जमीन की सिंचाई होगी। इस बार चंवली बांध पूरी तरह से लबालब है। इसके चलते किसानों को रबी की फसलों के लिए पर्याप्त पानी मिल रहा है।