पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

चिकित्सा:सैंपल काउंटर पर मरीजों की इतनी भीड़ कि स्टाफ को सांस लेने की फुर्सत नहीं, फिर भी रोज 50 मरीज वंचित

झालावाड़2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • मौसमी बीमारियों के चलते एसआरजी अस्पताल में 4 घंटे में 200 से अधिक सैंपल आ रहे

बारिश के दौरान मौसमी बीमारियों का प्रकोप होने से जिला एसआरजी अस्पताल में बड़ी संख्या में मरीज आ रहे हैं। इनमें अधिकतर मरीजों को जांचें लिखी जा रही है। इसके कारण सैंपल काउंटर पर स्टाफ को सांस लेने की फुर्सत नहीं है। इधर सैंपल लेने का समय निश्चित होने से करीब 50 से अधिक मरीज रोज बिना जांचों के लौट रहे हैं। मरीजों की जांचे नहीं होने पर इनकी नाराजगी मौजूद स्टाफ को झेलनी पड़ रही है। जिला एसआरजी अस्पताल में जांचों के लिए ब्लड सैंपल लेने का समय निश्चित है। यहां 8 से दोपहर 12 बजे तक सैंपल लिए जा रहे हैं। उधर डॉक्टर को दिखाने में देरी होने पर सैंपल का समय निकल जाता है।

ऐसे में मरीज या तो दवाइयां लेकर लौट जाते हैं या उनको, बाहर निजी लैबों में जाकर जांच करानी होती है। इन दिनों डेंगू, मलेरिया की जांचें ज्यादा लिखी जा रही है और ये जांचे बाहर कराने पर डेढ़ से दो हजार रुपए खर्च हो रहे हैं।स्टाफ बढ़ाकर काउंटर बढ़ाएं तो मिले राहतअस्पताल में आने वाले हर मरीज की जांच हो, इसके लिए अस्पताल प्रशासन को सैंपल काउंटर पर स्टाफ बढ़ाकर एक और वैकल्पिक काउंटर की व्यवस्था करनी चाहिए, ताकि हर मरीज की जांच हो जाए और उसे बाहर निजी लैबों पर जाकर अपनी जेब ढीली नहीं करनी पडे़। अतिरिक्त सैंपल काउंटर से स्टाफ को भी कुछ हद तक राहत मिलेगी।

खबरें और भी हैं...