पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota
  • Jhalawar
  • The Game Of Ravening Of Gravel ... A Year And A Half Ago, A Thousand Tons Of Seized Gravel Were Auctioned 3 Months Ago, Had To Be Disposed Of In 15 Days, Till Now The Department Is Issuing Ravanna

भास्कर पड़ताल:बजरी के रवन्ने का खेल...डेढ़ साल पहले एक हजार टन जब्त बजरी की 3 माह पहले नीलामी की, 15 दिन में करना था निस्तारण, अब तक विभाग जारी कर रहा रवन्ना

झालावाड़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • लोगों को मिल रही महंगी बजरी, 20 हजार के बदले देना पड़ रहा 32 हजार, सवाल- रवन्ना जारी करने में मिलीभगत तो नहीं!

बजरी के अवैध खनन को किस तरह से अधिकारी वैध कर रहे हैं, यह बात झालावाड़ जिले में आकर देखी जा सकती है। यहां इन दिनों बजरी के रवन्ने का खेल चल रहा है। इसका सीधा सा खामियाजा यहां लोगों को महंगी बजरी के रूप में उठाना पड़ रहा है। जिले में खनिज विभाग ने अवैध खनन की जो बजरी जब्त की थी, उसके निस्तारण के लिए तीन माह पहले नीलामी की।इस नीलामी में जिस ठेकेदार के ठेका हुआ, उसे 15 दिन में सारी बजरी का निस्तारण करना था। यानी खनिज विभाग केवल 15 दिन ही रवन्ना जारी करता, लेकिन तीन माह बाद अभी तक विभाग रवन्ना जारी कर रहा है। इसके चलते भिलवाड़ी क्षेत्र से बड़े पैमाने पर अवैध खनन की बजरी बाजार में आ रही है। इस बजरी को यहां महंगे दामों में बेचा जा रहा है। इससे बजरी के दाम सीधे-सीधे दोगुने हो गए हैं। जो बजरी उपभोक्ताओं को 15 से 20 हजार में मिलनी चाहिए थी, वह अब 32 हजार से अधिक में मिल रही है। सोमवार को भी यहां बड़ी संख्या में बजरी से भरे डंपर निकले। दो डंपर तो सदर थाने ने पकड़ भी लिए।दरअसल, नदियों से बजरी निकालने पर पूरी तरह से रोक है। करीब डेढ़ साल पहले जिले में बजरी के अवैध खनन के खिलाफ अभियान चलाया और मिश्रौली, भीलवाड़ी सहित अन्य जगहों से करीब 1 हजार टन से अधिक बजरी जब्त की। इसी बजरी को कोर्ट की परमिशन के बाद नीलामी की जा रही है। तीन माह पहले ही बजरी की नीलामी के लिए टेंडर हुए। अब इस टेंडर के बाद केवल 15 दिन के लिए ही विभाग रवन्ना जारी कर सकता है, ताकि नीलामी वाली बजरी की आड़ में अवैध खनन वाली बजरी नहीं निकल पाए, लेकिन विभाग के अधिकारियों की मिलीभगत का नतीजा यह है कि अभी तक रवन्ना जारी किया जा रहा है।

ऐसे चल रहा है पूरा खेलयहां जो रवन्ने जारी किए गए, उन पर न तो तारीख है और न ही बजरी का वजन। जबकि होना यह चाहिए कि हर रवन्ने पर तारीख लिखनी जरूरी है। तारीख नहीं लिखने से एक ही रवन्ने पर दस-दस ट्रक बजरी लाई जा रही है।^ जो बजरी नीलाम की गई है, उसी का ही रवन्ना जारी किया गया है। कुछ बजरी का स्टॉक बच गया था। इस कारण उसका बेचान हो रहा है।अशोक वर्मा, एमई, माइंस विभाग, झालावाड़^हमने बजरी खनन के दो डंपर सदर थाने में पकड़े हैं। इनके रवन्ने में अधूरी जानकारी भरी हुई थी। पूरी एंट्री नहीं है। कहां से आ रहे हैं कहां जा रहे हैं, यह भी नहीं लिखा है। माइंस विभाग को इसकी जानकारी दी गई है।राजेश यादव, एएसपी

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज ग्रह स्थितियां बेहतरीन बनी हुई है। मानसिक शांति रहेगी। आप अपने आत्मविश्वास और मनोबल के सहारे किसी विशेष लक्ष्य को प्राप्त करने में समर्थ रहेंगे। किसी प्रभावशाली व्यक्ति से मुलाकात भी आपकी ...

और पढ़ें