पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

काेराेना का कहर:हालात बिगड़े ताे दाे निजी अस्पताल काेराेना मरीजाें के उपचार के लिए अधिकृत किए

झालावाड़12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
झालावाड़. जिला अस्पताल के कोरोना वार्ड में एक ऑक्सीजन सिलेंडर से तीन की चल रही सांसें। - Dainik Bhaskar
झालावाड़. जिला अस्पताल के कोरोना वार्ड में एक ऑक्सीजन सिलेंडर से तीन की चल रही सांसें।
  • समय रहते ही सैटेलाइट अस्पताल शुरू कर देते और सीएचसी पर मरीज रोकते तो हालात नहीं होते बेकाबू
  • अप्रैल में 4778 और मई के तीन दिनों में ही करीब 2 हजार मरीज मिले
  • अब तक जिला अस्पताल में 101 मरीजाें ने ताेड़ा दम

जिले में दूसरी लहर में अप्रैल-मई में ही मरीजों की संख्या 6 हजार हो गई। इससे जिला अस्पताल में हालात बेकाबू हो गए और इसे अन्य राेगियाें के लिए बंद करना पड़ा। अब यहां मरीजों को रखने तक की जगह नहीं है। मंगलवार को भी 32 मरीज बेड के अभाव में इमरजेंसी में वेटिंग में थे। ऐसे में सैटेलाइट अस्पताल को आनन-फानन में शुरू करने की तैयारी की जा रही है। साथ ही हालात बेकाबू हाेने के बाद प्रशासन ने काेराेना मरीजाें के उपचार के लिए दाे निजी अस्पतालों को अधिकृत किया गया। अगर समय रहते प्रशासन व चिकित्सा विभाग सचेत हो जाता और मार्च में मरीजाें की संख्या देखकर यह व्यवस्थाएं कर दी जाती तो हालात नहीं बिगड़ते। जिला एसआरजी अस्पताल में अप्रैल से अब तक 101 मरीजाें ने दम तोड़ दिया। इनमें कुछ मरीज ऐसे भी हैं, जिन्हें समय पर ऑक्सीजन या बेड नहीं मिला और इलाज के अभाव में उनकी मौत हो गई।

मेडिकल कॉलेज की बेड क्षमता से परिचित थे, फिर भी रैफर करते गए

जिला एसआरजी अस्पताल में बेड और मरीजों को रखने की क्षमता से चिकित्सा विभाग और जिला प्रशासन पूरी तरह अवगत था। यहां बेड फुल होने पर भी मरीजों को रेफर करते गए। प्रतिदिन 100 से अधिक नए मरीज भर्ती आ रहे हैं। अतिरिक्त बेड और इमरजेंसी वार्ड में मरीजों को भर्ती करना पड़ा। इससे व्यवस्थाएं गड़बड़ा गई और हालात बेकाबू हो गए। 25 अप्रैल तक ही मरीजों को सीएचसी पर रोक लेते या सैटेलाइट अस्पताल शुरू कर देते तो यह स्थिति नहीं हाेती।

इन निजी अस्पतालों व केयर सेंटर में भी होगा मरीजों का इलाज

कलेक्टर हरिमोहन मीना ने बताया कि निरोगधाम अस्पताल अकलेरा में कुल 250 बेड हैं जिसमें से कोविड मरीजों की चिकित्सा के लिए 100 बेड आरक्षित किए गए हैं। यहां पर वर्तमान में 80 कोविड मरीज भर्ती हैं। संजीवनी हॉस्पिटल झालावाड़ में कुल 100 बेड हैं जिसमें से 50 बेड कोविड मरीजों के लिए आरक्षित किए गए हैं। झालरापाटन के नवीन सैटेलाइट अस्पताल में ऑक्सीजन युक्त 50 बेड का कोविड केयर सेंटर प्रारंभ किया गया है। साथ ही बालाजी ऑर्थोपेडिक हॉस्पिटल झालावाड़ में कोविड मरीजों के लिए 20 बेड आरक्षित किए गए हैं। नून हॉस्पिटल भवानीमंडी में कुल 60 बेड हैं जिसमें से 30 बेड कोविड मरीजों के लिए आरक्षित किए गए हैं। उन्होंने बताया कि एलएन हॉस्पिटल झालावाड़ में कुल 50 बेड में से 35 बेड कोविड मरीजों के लिए आरक्षित किए गए हैं। उन्होंने बताया कि इंजीनियरिंग कॉलेज झालरापाटन के कोविड केयर सेंटर में 50 बेड हैं। जिसमें वर्तमान में 22 कोविड मरीज भर्ती हैं। उद्यानिकी एवं वानिकी महाविद्यालय के कोविड केयर सेंटर में 24 बेड हैं, जहां अभी 12 कोविड मरीज हैं।

इन तीन बड़ीलापरवाही से बिगड़े हालात

1.सैटेलाइट अस्पताल को सुपुर्द करने की 4 बार तारीख दी गई, लेकिन फिर भी हैंडओवर नहीं किया गया। इसके बावजूद ठेकेदार के खिलाफ काेई कार्रवाई नहीं की गई।

2. मप्र व अन्य प्रदेशों में भी सरकारी के साथ निजी अस्पतालों में कोरोना मरीजों का इलाज हो रहा है, हमारे यहां अब निजी अस्पतालों को अधिकृत कर रहे है, जबकि पहले ही अधिकृत कर देते और हालात नहीं बिगड़ते।

3.मार्च में ही दूसरी लहर शुरू हो गई थी। ग्रामीण क्षेत्र कोरोना मरीज मिलने पर उनका सीएचसी पर ही इलाज कर दिया जाता व उनको झालावाड़ रेफर नहीं किया जाता ताे जिला अस्पताल की यह स्थिति नहीं हाेती।

डॉ. साजिद खान, सीएमएचओ

जिला अस्पताल में हालात बेकाबू हुए तब जाकर सीएचसी पर मरीज रोके जाने लगे, यह व्यवस्था पहले भी हो सकती थी?-सीएचसी पर मरीजों रखने की पहले व्यवस्था नहीं थी। वहां अब जाकर ऑक्सीजन सिलेंडर की व्यवस्था की गई है।{सैटेलाइट अस्पताल भी अब शुरू किया जा रहा है, इसमें देरी क्यों हुई?-सैटेलाइट अस्पताल का निर्माण अभी भी पूरा नहीं हुआ है। कलेक्टर ने दो वार्ड पूरी तरह तैयार करवाए हैं, इसलिए अब जाकर वहां कोरोना मरीजों के 100 बेड की व्यवस्था की जा रही है। निजी अस्पतालों में कोरोना मरीजों के इलाज की क्या व्यवस्था है?- कुछ निजी अस्पताल पहले से कोरोना मरीजों का इलाज कर रहे हैं, सोमवार को कलेक्टर ने दो और निजी अस्पतालों को कोरोना मरीजों के इलाज के लिए अधिकृत किया है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय अनुसार अपने प्रयासों को अंजाम देते रहें। उचित परिणाम हासिल होंगे। युवा वर्ग अपने लक्ष्य के प्रति ध्यान केंद्रित रखें। समय अनुकूल है इसका भरपूर सदुपयोग करें। कुछ समय अध्यात्म में व्यतीत कर...

    और पढ़ें