पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

पानी के अभाव में सूखने लगी फसलें:पानी के अभाव में सूखने लगी फसलें, किसान बोले-नहरी पानी मिल जाए तो बच सकती है हमारी मेहनत

झालीजी का बराना11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

क्षेत्र में इस वर्ष मानसून में पर्याप्त बरसात नहीं होने से किसानों को फसलों को बचाने के लिए चिंतित होना पड़ रहा है। समय रहते नहरी पानी मिले जाए तो फसल को जीवनदान मिल सकता है। इस वर्ष सोयाबीन, धान का रकबा अधिक होने से किसानों के सामने फसलों को बिना बरसात जीवित रखना मुश्किल नजर आ रहा है।किसान रमेशचंद कालीतलाई का कहना है कि इस वर्ष महंगे दामों पर चालीस बीघा खेत ज्वाराकास्त में धान लगाया, लेकिन बरसात नहीं होने से करीबन 12 बीघा धान की तो हंकाई कर दी गई। बीस बीघा धान को बचाने के लिए अब तक करीबन एक लाख बीस हजार का डीजल ट्यूबवेल के इंजन से जल चुका है। इसके अलावा दवाइयों, मेहनत मजदूरों का करीबन एक लाख का खर्चा आ चुका है। धान में बालियां बनने से दिन-रात ट्यूबवेल को चलाने पर भी पूरा नहीं पड़ रहा तो दूसरे ट्यूबवेल को चलाना पड़ रहा है। वहीं किसानों के खेतों में खड़ी फसल सोयाबीन, मक्का, उड़द को पानी के बिना सूखने लगी है। अब किसानों को नहरों में पानी से ही राहत मिल सकती है।भाजपा-कांग्रेस ने की फसल खराबे की मुआवजे की मांगइंद्रगढ़. तहसील कार्यालय में मंगलवार को भाजपा जिलाध्यक्ष छीतरलाल राणा के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने तहसीलदार नरेंद्रसिंह को कलेक्टर के नाम से ज्ञापन सौंपा। इसमें खराबे को लेकर जल्द सर्वे करवाकर किसानों को मुआवजा दिलवाए जाने की मांग की गई। भाजपा के लक्ष्मणलाल रैबारी, नरेश योगी, हिम्मतसिंह हाड़ा, घनश्याम गोचर, जीतमल प्रजापत, मायाराम रैबारी, लोकेश सैनी, रामकल्याण मीणा, प्रह्लाद महावर, मुकेश पारीक, मोतीलाल मीणा, सूरजमल सैनी मौजूद रहे। उधर, कांग्रेस जिला प्रवक्ता सुरेंद्र हरकारा, किसान नेता सुरजन मीणा, पूर्व सरपंच नेनकराम मीणा ने मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर मुआवजा दिलाने की मांग की है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का दिन पारिवारिक व आर्थिक दोनों दृष्टि से शुभ फलदाई है। व्यक्तिगत कार्यों में सफलता मिलने से मानसिक शांति अनुभव करेंगे। कठिन से कठिन कार्य को आप अपने दृढ़ विश्वास से पूरा करने की क्षमता रखे...

और पढ़ें