झालावाड़ में कोरोना से हारी आस्था:मकर संक्रांति के त्यौहार पर प्रशासन अलर्ट, चंद्रभागा नदी पर नहीं जुटने दिए श्रद्धालू

झालरापाटन4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोना की काली छाया से झालावाड़ की चंद्रभागा नदी पर होने वाला मकर सक्रांति का स्नान भी अछूता नहीं रह पाया है। कोरोना की तीसरी लहर की वजह से प्रशासन अलर्ट मोड पर है। प्रशासन ने कोरोना की वजह से चंद्रभाग नदी पर श्रद्धालुओं को नहीं जुटने दिया है।

मकर संक्रांति के त्यौहार के दिन यहां पवित्र स्नान गोदान पुणे के लिए श्रद्धालुओं आते थे, लेकिन इस बार भी कोरोना की गाइडलाइन की वजह से प्रशासन ने यहां भीड़ नहीं जुटने दी है । इसी वजह से हजारों लोग नदी में पवित्र स्नान नहीं कर पाए। चंद्रभागा नदी में कार्तिक पूर्णिमा व मकर सक्रांति पर स्नान कर दान पुण्य करने का विशेष महत्व माना जाता है।

चंद्रभागा नदी पर हजारों लोग आते हैं। वह पहले नदी में डुबकी लगाते हैं और फिर यहां पर मौजूद शिवालय में पूजा अर्चना करते हैं। जिसके बाद बेघर, भिखारियों और जरूरतमंद लोगों को दान कर पुण्य कमाते हैं। पवित्र स्नान और दान पुण्य का सिलसिला यहां सदियों पुराना है। लेकिन कोरोना के चलते प्रशासन ने इस बार भी यहां स्नान व अन्य धार्मिक गतिविधियों पर रोक लगा रखी है।इसलिए जिन घाटों व मंदिरों पर मकर सक्रांति के दिन सुबह से ही जमघट लगता था।वहां आज श्रद्धालुओं का टोटा पड़ा है।

खबरें और भी हैं...