पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बड़ी लापरवाही:कोरोना पॉजिटिव की मौत, बिना पैक किए ही सौंप दिया शव

झालरापाटन2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बिना कवर की डेड बॉडी से लिपटकर बिलखते परिजन। - Dainik Bhaskar
बिना कवर की डेड बॉडी से लिपटकर बिलखते परिजन।
  • झालरापाटन का मामला, चिकित्साकर्मियों की लापरवाही से मृतक के अन्य परिजन भी हो सकते हैं संक्रमित

शहर के इंजीनियरिंग कॉलेज कोविड केयर सेंटर में गुरुवार को एक कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति की मौत हो गई। यानी मरीज की तबीयत खराब हो रही थी, तभी उसे अस्पताल नहीं पहुंचाया और उसकी मौत हो गई। इसके अलावा कोविड केयर सेंटर के चिकित्सा कर्मियों ने कोरोना प्रोटोकॉल की धज्जियां उड़ाई। कोरोना पॉजिटिव के शव को बिना पैक कराएं ही परिजनों को सौंप दिया। परिजन शव को घर ले गए। बाद में नगरपालिका ने बॉडी कंवर की व्यवस्था कर शव को पैक किया और एंबुलेंस से मुक्तिधाम पहुंचाया। कोरोना गाइडलाइन के तहत कोरोना पॉजिटिव की मौत होने पर बॉडी को पैक करवाया जाता है और उसे सीधे मुक्तिधाम पहुंचाना होता है।

यहां नगरपालिका के कर्मचारी शव का अंतिम संस्कार करवाते है, लेकिन गुरुवार को इंजीनियरिंग कॉलेज कोविड केयर सेंटर के स्वास्थ्य कर्मियों ने कोरोना प्रोटोकॉल की धज्जियाँ उड़ाई बल्कि संक्रमण फैलाने का भी काम किया। कोरोना पॉजिटिव युवक की मौत होने पर उसके शव को बिना पैक करवाएं ही परिजनों को सौंप दिया। परिजन शव लेकर घर भी आए गए। परिजन शव से लिपटकर रोए भी। बाद पार्षद पंकज वैष्णव ने नगरपालिका चेयरमैन को सूचना दी कि शव को बिना पैकर करवाएं परिजनों को सौंप दिया। इस पर चेयरमैन वर्षा जैन ने नगरपालिका की एंबुलेंस शव लेने भेजी। यहां शव खुला होने पर एंबुलेंस कर्मियों ने शव रखने से मना कर दिया। बाद में नगरपालिका ने ही बॉडी कंवर का भी इंतजाम कर शव को पैकर करवाया और मुक्तिधाम पहुंचाकर उसका अंतिम संस्कार करवाया।

इंजीनियरिंग कॉलेज में एक कोरोना पॉजिटिव की मौत हो गई थी और बिना बॉडी पैक किए परिजनों को देने की बात सामने आई थी। इस पर हमने तुरंत मेडिकल कॉलेज से बॉडी कवर भेजकर बॉडी पैक करवा दी थी। साथ ही स्टाफ को भी पाबंद कर दिया है, ताकि आगे से ऐसी गलती नहीं हो।- डाॅ. साजिद खान, सीएमएचओ^कोविड केयर सेंटर पर चिकित्सा कर्मियों द्वारा कोरोना संक्रमित व्यक्ति के शव को बिना पैक किए परिजनों को सौंप दिया जो गलत है, इससे परिजनों में संक्रमण फैल सकता है। बाद में नगरपालिका ने व्यवस्था कर बॉडी को पैक करवाया और मुक्तिधाम पहुंचाकर उसका अंतिम संस्कार करवाया है।वर्षा जैन, अध्यक्ष नगरपालिका झालरापाटन

खबरें और भी हैं...