पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अव्यवस्था पर आक्रोश:टीका लगाने में भेदभाव का आराेप, हंगामा

कवाई22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कवाई. कस्बे के अस्पताल में टीकाकरण शिविर में हुए हंगामे के दौरान लोगों से समझाइश करता पुलिसकर्मी। - Dainik Bhaskar
कवाई. कस्बे के अस्पताल में टीकाकरण शिविर में हुए हंगामे के दौरान लोगों से समझाइश करता पुलिसकर्मी।
  • कवाई में टीकाकरण के लिए उमड़ी भीड़, चिकित्साकर्मियों के पीछे के गेट से लोगों को बुलाने से भड़के लोग

कस्बे के अस्पताल में बुधवार को आयोजित टीकाकरण शिविर में कस्बेवासियों ने चहेतों को पीछे के रास्ते अंदर बुलाकर टीका लगाने का आरोप लगाते हुए हंगामा किया।शिविर में लोगों को कतारों में खड़ा कर टोकन बांट दिए गए। उसके बाद भी दूसरे रास्ते से चहेतों को भीतर लेकर टीका लगाने का सिलसिला जारी रहा। जिस पर गुस्साए लोगों ने शोर मचाते हुए हंगामा शुरू कर दिया। हालांकि कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस बल वहां तैनात था।

शिविर में 18 वर्ष से अधिक उम्र वालों को 300 टीके लगाए गए।बाहर खड़े रहे लोग, अंदर लगते रहे टीकेअस्पताल में आयोजित टीकाकरण शिविर में टीका लगाने आए लोगों को एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने महिलाओं व पुरुषों की अलग-अलग कतार लगाकर टोकन वितरित किए थे। इन टोकन नंबर के आधार पर लोगों को टीके लगाए जा रहे थे। इसके अलावा बाहर निकलने वाले गेट से कुछ कर्मचारी रिश्तों को साधते हुए कुछ लोगों को भीतर लेकर टीका लगा रहे थे। सुभाषचंद शर्मा, कमल मंगल ने बताया कि वह सुबह से लाइन में खड़े थे और टोकन भी ले लिया था। दोपहर 12 बजे तक गेट पर 26 नंबर टोकन के पुरुष व 28 नंबर टोकन की महिला के प्रवेश से पहले ही अंदर 93 लोगों को टीके लग चुके थे। जिस पर गुस्साए लाेगों ने विरोध दर्ज करते हुए हंगामा करते हुए स्वास्थ्य कर्मियों पर भेदभाव का आरोप लगाया। लोगों का कहना था कि वह सब काम छोड़कर सुबह से ही लाइन में खड़े हैं और दूसरी तरफ कर्मचारी मिलने वालों को दूसरे रास्ते से अंदर लेकर टीका लगवा रहे हैं। लोकेश नागर ने बताया कि वह जब वैक्सीन लगाने पहुंचा तो उसका 30वां नंबर था और तीसरे नंबर की महिला ने प्रवेश किया था। अंदर जाकर देखा तो रजिस्टर में 130 लोगों के टीका लग चुका था।टीकाकरण में हर दिन हाे रही हैं अव्यवस्थाएंएबीवीपी के हैप्पी अग्रवाल ने बताया कि अस्पताल में टीकाकरण के दौरान लोगों को अव्यवस्थाओं का सामना करना पड़ा। विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता लगातार टीकाकरण शिविरों में टोकन वितरित कर चिकित्साकर्मियों की मदद कर रहे हैं।

लोगों का आरोप है कि यहां तैनात पुलिसकर्मी व चिकित्साकर्मी जान-पहचान वालो एवं रसूखदार लोगों को दूसरे गेट से अंदर भेज रहे थे। लोगों का कहना है कि अगला टीकाकरण शिविर कस्बे के अन्य सार्वजनिक स्थान पर लगाया जाए। जहां लोगों को दोनों रास्ते साफ नजर आएं। ताकि बिना लाइन में लगे ही लोगों को वैक्सीन नहीं लगे।^लोगों की ओर से लगाए जा रहे आरोप निराधार हैं। फिर भी लोग इस तरह के आरोप लगा रहे हैं तो आगामी शिविर को उच्च अधिकारियों से बात करके दूसरी जगह लगाने के प्रयास करेंगे।-डाॅ. भगवान सिंह, चिकित्सा प्रभारी

खबरें और भी हैं...