लाखेरी हत्याकांड / पति स्तब्ध, बेटे को मलाल, अपनी मां को नहीं बचा सका

X

  • हत्या करने के आराेपी काे काेई मलाल नहीं

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 06:18 AM IST

लाखेरी. महावीरपुरा में एक मजदूर के घर हुई चाकूबाजी में महिला की हत्या से परिजनों के साथ मोहल्लेवासी गमगीन हैं। पति स्तब्ध है कि यह कैसे हो गया। बेटा-बेटी के वारदात में बचने का संतोष तो है, परन्तु पत्नी की मौत ने व्यथित कर दिया।
दिलासा देने आने वालाें के सामने वह फफक कर कहता है कि सब-कुछ ठीक चल रहा था, परन्तु ऐसी घटना की कतई कल्पना भी नहीं की थी। वारदात के दौरान वह घर से बाहर था। इसका उसे काफी मलाल है। शायद घर पर होता तो वह कुछ कर पाता। बेटे को इस बात का मलाल है कि उसने हत्यारे से मां और बहन को बचाने की कोशिश तो की, लेकिन इस जद्दोजहद में मां को नहीं बचा सका। अचानक हुए इस हादसे से परिजन भी हैरान है। किसी को हत्यारे के मंसूबे की भनक तक नहीं लगी। परिवार मजदूरी से जुड़ा है। पति एसीसी फैक्ट्री में ठेका श्रमिक है। पत्नी ईंटभट्टे पर काम करके परिवार को आर्थिक संबल देती रही। घटना के कुछ घंटे पहले वह मजदूरी करके लौटी थी। बेटा एयर कंडीशनर उत्पादों की रिपेयर का काम करता है।
पुलिस ने वारदात के बाद आराेपी मुकेश को गिरफ्तार कर लिया। हिरासत में पुलिस पूछताछ में उसने बदले की नीयत से हमला करने की बात कबूल की है। वह हाथ की नसें काटकर बड़बड़ाता मिला कि मैं तो मारने ही आया था। वारदात के बाद भी उसे इस कृत्य का मलाल तक नहीं था। पुलिस उससे पूछताछ कर रही है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना