पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota
  • Lakheri
  • One And A Half Lakhs Of Cash, Bike And Food Ash, Fire Rage In The House, Six Months Of Children And Two Others Were Caught In The Fire In Tapri.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

आर्थिक सहायता की मांग की:टापरी में आग से डेढ़ लाख की नकदी, बाइक व खाद्यान्न राख,आशियाने में अग्नि का रौद्र रूप, छह माह के बच्चे सहित दो अन्य आग की चपेट में आए

लाखेरी8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

रैबारपुरा पंचायत के पचीपला गांव में आग ने एक गरीब किसान के अरमानों को स्वाह कर दिया। एक छोटी सी चिंगारी ने परिवार के सदस्यों को आहत तो किया ही, वहीं उनकी मेहनत आग की भेंट चढ़ गई। बुधवार देरशाम बाबूलाल कहार के अरमानों को आग ने तबाह कर दिया। अचानक भड़की आग मेज नदी किनारे उसके कच्चे आशियाने पर कहर बनकर टूट पड़ी। आगजनी में एक बाइक, डेढ़ लाख रुपए, गेहूं, चना, सरसों व रोजाना बेचने वाली सब्जी स्वाह हो गई। आग के रौद्र रूप ने झुले पर सो रहे छह माह के नातिन व बाबूलाल की मां रामजानकी चपेट में आ गई। बाबूलाल का बेटा लटूर बचाने दौड़ा तो वह भी लपटों में झुलस गया। थोड़ी ही देर में खेत पर कोहराम मच गया। पड़ाेसी बचाने दौडे़। बड़ी मशक्कत से परिवार के लोगों को भड़कती आग से बचाकर कापरेन अस्पताल पहुंचाया, जहां प्राथमिक उपचार कर कोटा रैफर किया गया।

तबाही से पूरा परिवार दु:खीहादसे के समय बाबूलाल व अन्य खेत पर गेहूं की फसल की कटाई कर रहे थे। हादसे की सूचना पर ग्रामीण व पुलिसकर्मी पहुंचे, तब तक सब कुछ स्वाह हो चुका था। सरपंच प्रदीप कहालिया आग से हुई तबाही का मंजर देख रुआंसे हो गए। आगजनी की घटना से परिवार पूरी तरह व्यथित हो गया। बाबूलाल गांव से दूर मेज नदी के किनारे खेत पर ही कच्ची टापरी बनाकर जीवन बसर करता है। सब्जी बेचकर रोजाना की जरूरतें पूरी होती थी। आग ने घर में रखे गेहूं, चना व सरसों को भी चपेट में ले लिया। सरपंच प्रदीप कहालिया ने पीड़ित परिवार को आर्थिक सहायता की मांग की है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आपका संतुलित तथा सकारात्मक व्यवहार आपको किसी भी शुभ-अशुभ स्थिति में उचित सामंजस्य बनाकर रखने में मदद करेगा। स्थान परिवर्तन संबंधी योजनाओं को मूर्तरूप देने के लिए समय अनुकूल है। नेगेटिव - इस...

    और पढ़ें