पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

...तब तक काफी देर हो चुकी थी:छात्र ने भावुकता में खाया जहर, भाई से बोला-मुझे बचा लो

लाखेरी16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • लाखेरी में आईटीआई में पढ़ रहा छात्र परिजनों के सामने छोड़ गया कई सवाल

युवा अवस्था में कभी-कभी गलत कदम उठाने के बाद पछतावा होने लगता है, लेकिन तब तक बहुत देर हो जाती है और जीवन से हाथ धोना पड़ जाता है। ऐसा ही शहर के बड़ के बालाजी निवासी आईटीआई के छात्र अशोक के साथ हुआ। अशोक ने भावुकता में सोमवार रात को जहर खा लिया। अशोक को इसकी गंभीरता का पता चला तो वह जीने की उम्मीद में अपने बड़े भाई मुकेश को सच्चाई बताकर बचाने की गुहार लगाने लगा।आनन-फानन में परिजन उसे अस्पताल ले गए, जहां प्राथमिक उपचार करके कोटा रैफर कर दिया। रातभर जीवन और मृत्यु से जंग जारी रही। परिजन भगवान से उसकी सकुशलता की दुआ करते रहे। होनी को कुछ अलग ही मंजूर था।पूरे शरीर में फैल चुका था जहरजहर का असर रक्त की धमनियों तक पहुंच चुका था। पर्याप्त चिकित्सा के बावजूद अशोक ने मंगलवार सुबह 11 बजे कोटा में दम तोड़ दिया। इस अप्रत्याशित हादसे की सूचना जब मोहल्ले में पहुंची तो कोई यह बात मानने को तैयार ही नहीं था कि अशोक ऐसा कदम उठा सकता है।बाद में लाखेरी पुलिस ने कोटा अस्पताल में जाकर पोस्टमार्टम करवाया अाैर शव को परिजनों के सुपुर्द किया। देरशाम अशोक पंचतत्व में विलीन हो गया, लेकिन पीछे कई सवालों के साथ परिजनों के लिए अंतहीन दर्द दे गया।निरुत्तर सवाल...आखिर ऐसा क्या हुआ कि जिंदगी दांव पर लगाईहंसमुख मिजाज अशोक की किसी से कोई अदावत नहीं थी। फिर भी ऐसी क्या बात हुई कि उसे जीवन को संकट में डालने वाला कदम उठा लिया। अशोक आईटीआई का छात्र था और उसके पिता आटा चक्की की दुकान लगाकर परिवार की रोजी रोटी का जुगाड़ करते है। अशोक का बड़ा भाई भी कभी चाय तो कभी सीजनेबल दुकान लगाकर परिवार की आर्थिक सहायता में योगदान देता रहता है। परिवार में कोई तनाव नहीं है, फिर भी घर वालों को अशोक के इस कदम से काफी निराशा है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- किसी भी लक्ष्य को अपने परिश्रम द्वारा हासिल करने में सक्षम रहेंगे। तथा ऊर्जा और आत्मविश्वास से परिपूर्ण दिन व्यतीत होगा। किसी शुभचिंतक का आशीर्वाद तथा शुभकामनाएं आपके लिए वरदान साबित होंगी। ...

    और पढ़ें