पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

हादसा:ट्रक से गिरकर खलासी की माैत, घबराकर भागे चालक के खिलाफ लापरवाही का केस दर्ज

नैनवां2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • नैनवां में रजलावता पेट्रोल पंप के पास शव मिलने की पुलिस जांच शुरू

शहर से दो किमी दूर रजलावता पेट्रोल पंप के पास खड़े ट्रक के पास 35 वर्षीय युवक का खून से सना शव मिला। पेट्रोल पंप मालिक विनोद मारवाड़ा की सूचना पर डीएसपी कैलाशचंद जाट, सीआई रामलाल मीणा, ड्यूटी ऑफिसर ताराचंद ने आकर मुआयना किया। युवक की जेब व ट्रक में मिले दस्तावेज के आधार पर शव की पहचान की। वह उसी ट्रक के खलासी का निकला, जिस ट्रक के पास उसका शव पड़ा था।  मृतक (टोंक) बरौनी थाना इलाके के श्रीनगर गांव निवासी देवहंस गुर्जर निकला। वह बुधवार को लोहे के सामान लेकर ट्रक के साथ आया था। सामान उतारने के बाद ट्रक पेट्रोल पंप के पास खड़ा किया था। पुलिस अधिकारियों ने प्रथम दृष्टया ट्रक की केबिन से नींद में नीचे गिरने की आशंका जताई, लेकिन मृतक देवहंस के परिजनों ने इस आशंका को नकारते हुए इसे दुर्घटना का मामला बताया।

मृतक के छोटे भाई खुशीराम गुर्जर ने दी रिपोर्ट में लिखा कि उसका बड़ा भाई देवहंस गुर्जर ट्रक पर खलासी का काम करता था। ट्रक को चालक गंगाबिशन गुर्जर चलाता था। रिपोर्ट में आरोप लगाया कि चालक के ट्रक खड़े करते समय उसका बड़ा भाई देवहंस नीचे गिर गया। जिससे उसकी मौत हो गई। इसके बाद ट्रक चालक भाग गया। सीआई रामलाल मीणा ने बताया कि मृतक के छोटे भाई की रिपोर्ट पर ट्रक चालक के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
इधर, साइकिल से टकराकर बाइक सवार की मौत
कापरेन. बलकासा के पास गुरुवार को बाइक और साइकिल की भिड़ंत हाे गई, जिसमें बाइक चालक की मौत हो गई, जबकि साइकिल सवार गंभीर घायल हो गया। थानाधिकारी बुद्धिप्रकाश नामा ने बताया कि करौली जिले के कंजोली निवासी अमृतलाल जाटव (30) पुत्र हरिराम जाटव गांव से डाबी-बुद्धपुरा पत्थर की खदान में काम कर दो जून की रोटी कमाने के लिए निकला था कि गंतव्य तक पहुंचने से पहले ही अड़ीला व बलकासा के बीच सामने से आ रहे साइकिल सवार से भिड़ंत हो गई। जिसमें बाइक चालक अमृत की ही मौत हो गई।

वहीं, साइकिल चालक अड़ीला निवासी श्रवण मेहर (45) पुत्र गोबरीलाल मेहर गंभीर घायल हो गया। अमृत के साथ बैठे सोनू (25) मुरारी को भी चोटें आई हैं। श्रवण को कोटा रैफर किया है, जबकि अमृत के शव का पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया। पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
इकलौता बेटा चलाता था परिवार : अमृत पिता का इकलौता बेटा था, जो पूरे परिवार को पाल रहा था। लॉकडाउन के दौरान वह डाबी से अपने गांव चला गया था। लॉकडाउन खुलने के बाद वापस मजदूरी करने जा रहा था कि बीच रास्ते में ही उसे मौत ने अपनी आगोश में ले लिया। उसके तीन बेटी एक बेटा, पत्नी, बुजुर्ग माता-पिता हैं। जिन पर मुसीबतों का पहाड़ टूट पड़ा है। परिवार में कोई भाई-भतीजा नहीं होने से पड़ाेसी व रिश्तेदार शव को लेने आए थे।

परिवार का पालनहार था  
मृतक देवहंस परिवार का सबसे बड़ा बेटा था। उस पर पूरे परिवार की जिम्मेदारी थी। वह बुजुर्ग पिता भोलूराम व मां कजोड़ीदेवी के बुढ़ापे का सहारा था। इसके दो छोटे भाई भी इस पर आश्रित थे। इसके अलावा पत्नी रामादेवी, बेटा विक्रम (7) व बेटी शिवानी (5) हैं। इस दुर्घटना से पत्नी की मांग का सिंदूर उजड़ गया और मासूम बेटा-बेटी के सिर से पिता का साया उठ गया। देवहंस की मौत की सूचना पर नैनवां आए उसके छोटे भाई व परिजनों की आंखों से उसकी मौत पर आंसू बह रहे थे। जिनको साथ आए करीबी लोग ढांढस बंधवा रहे थे।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज पिछली कुछ कमियों से सीख लेकर अपनी दिनचर्या में और बेहतर सुधार लाने की कोशिश करेंगे। जिसमें आप सफल भी होंगे। और इस तरह की कोशिश से लोगों के साथ संबंधों में आश्चर्यजनक सुधार आएगा। नेगेटिव-...

और पढ़ें