हादसा / झुलसी महिला की कोटा में मौत, पति-दो ननद और बुआ सास के खिलाफ हत्या-दहेज प्रताड़ना का केस

X

  • खानपुरा गांव की घटना, पुलिस ने करवा लिए थे मजिस्ट्रेट के समक्ष बयान

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 06:21 AM IST

नैनवां. खानपुरा गांव में 6 दिन पूर्व गैस पर खाना बनाते समय झुलसी जमनाबाई (35) की शुक्रवार को अलसुबह कोटा के एमबीएस अस्पताल में मृत्यु हो गई। मृतका के बड़े भाई खोढ़ी गांव के बद्रीलाल माली ने पुलिस थाने में मृतका के पति सोराज, ननद कन्या व लाड़ और गोठड़ा वाली बुआ सास के खिलाफ दहेज के लिए प्रताड़ित कर तेल उड़ेल जलाकर हत्या करने का केस दर्ज कराया है। पति की ओर से पुलिस को दी रिपोर्ट में गैस पाइप निकलने से जलने की जानकारी दी है। 
पुलिस ने बताया कि 16 मई की शाम को खाना बनाते समय गैस का पाइप निकल जाने से विवाहिता जल गई थी। परिजन उसे पहले नैनवां सरकारी अस्पताल, फिर कोटा एमबीएस अस्पताल ले गए थे, जहां इलाज चल रहा था। पुलिस ने 17 मई को उसकी हालत गंभीर देखते हुए मजिस्ट्रेट के समक्ष बयान करवाए थे। बयान बंद लिफाफे में होने के चलते घटना के कारण खुलासा नहीं हुआ है। शुक्रवार को सुबह 4 बजे उसकी सांसें थम गई। पुलिस ने कोटा अस्पताल में पोस्टमार्टम करवाकर शव पति को सुपुर्द कर दिया। 
 मृतका के भाई बद्रीलाल ने पुलिस में दर्ज कराई रिपाेर्ट में आरोप लगाया कि उसकी छोटी बहन जमना की शादी 20 वर्ष पहले खानपुरा के सोराज पुत्र भूरा माली के साथ हुई थी। उसके तीन पुत्र 12, 9 व 6 वर्ष के हैं। उसका पति आदतन शराबी है और आए दिन बहन के साथ शराब पीकर मारपीट करता था। शराब के लिए रुपए मांगता और पीहर से दहेज में बाइक-50 हजार रुपए लाने की मांग करता था। बहन कहती रही कि मेरे माता-पिता गरीब हैं। अब वे दहेज नहीं दे सकते। इस पर सोराज और उसकी बहन कन्या-लाड़ भी उसके साथ मारपीट करते थे। गोठड़ा वाली बुआ सास हमेशा कहती थी कि ऐसी मेरी बहू होती तो जिंदा जला देती। वह मारपीट के लिए उकसाती रहती थी। 15 मई को सोराज व उसकी दोनों बहनों ने जमनाबाई के साथ मारपीट की। फिर 16 मई को शाम को सोराज ने मारपीट की। तेल डालकर जला दिया, जिसकी कोटा अस्पताल में माैत हो गई। पुलिस ने मृतका के पति, दो ननद व बुआ सास के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना