अदालत की कार्यवाही:दुष्कर्म के आराेप में भाइयों को 14-14 साल का कठोर कारावास

कोटा3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो।

किशाेरी काे को भगा ले जाकर उसके साथ दुष्कर्म करने के मामले में न्यायालय पोक्सो क्रम संख्या- 4 के विशेष न्यायाधीश मोहम्मद आरिफ ने शनिवार काे आरोपी दो भाइयों को 14-14 वर्ष का कठोर कारावास सुनाया है। सजा के साथ दाेनाें पर 60-60 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया है। विशिष्ट लोक अभियोजक धीरेंद्र सिंह चौधरी ने बताया कि परिवादिया ने 7 मई 2015 को सिटी एसपी कोटा के समक्ष एक परिवाद पेश किया था।

विज्ञाननगर पुलिस ने सिटी एसपी के निर्देश पर आईपीसी की धारा 363 के तहत मुकदमा दर्ज कर अनुसंधान प्रारंभ किया। पुलिस ने अनुसंधान में पता चला कि आरोपी पीड़िता को रतलाम ले गए और वहां किराए के मकान में एक माह तक उसके साथ दुष्कर्म किया। इस कारण वह गर्भवती हो गई। पुलिस ने पीड़िता के बयान व मेडिकल मुआयने के बाद आरोपी देवी सिंह व कांतिलाल पुत्र चतर सिंह निवासी ग्राम बाजेड़ा थाना नामली जिला रतलाम के खिलाफ न्यायालय में आईपीसी की धारा 366, 376 आईपीसी व 3/4 पोक्सो एक्ट के तहत चालान पेश किया था।

मामले में अभियोजन पक्ष की ओर से कुल 24 गवाहों के बयान कराए गए। विशेष न्यायाधीश मोहम्मद आरिफ ने मामले में सुनवाई के बाद दाेनाें आरोपियों को दोषी करार दिया तथा विभिन्न धाराओं के अपराध में कुल 14-14 साल का कठोर कारावास व 60-60 हजार रुपए का जुर्माना सुना दिया।

खबरें और भी हैं...