पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना का कहर:कोटा में ब्लैक फंगस वार्ड में महिला सहित 3 मरीजों की मौत

कोटा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

एमबीएस अस्पताल में ब्लैक फंगस (म्यूकोरमाइकोसिस) मरीजों के लिए बनाए गए वार्ड में एक ही दिन में तीन मरीजों की मौत हो गई। मृतकों में एक महिला व दो पुरुष थे। अस्पताल सूत्रों ने बताया कि एक रोगी ने देर रात दम तोड़ा, जबकि दो की सुबह मौत हुई।

इनमें से मरने वाली महिला की जांच में म्यूकोर की पुष्टि हो चुकी थी और महिला का ऑपरेशन भी किया गया था। जबकि दो मरीज एक दिन पहले ही एडमिट हुए थे, इसलिए उनकी जरूरी जांचें भी नहीं हो सकी, इससे पहले ही दोनों की मौत हो गई। डॉक्टरों के मुताबिक, इन मरीजों में ऑपरेशन सबसे बड़ा चैलेंज बना हुआ है क्योंकि ये सारे पोस्ट कोविड पेशेंट हैं, ऐसे में इनके लंग्स की क्षमता पहले से कमजोर है। इसके साथ ही डायबिटीज जैसी दूसरी बीमारियां भी हैं। फंगल इंफेक्शन में ऑपरेशन जरूरी है लेकिन इससे श्वास में दिक्कत की चुनौती होती है।

डॉक्टरों ने 11 घंटे लगातार किए 6 ऑपरेशन

उधर, गुरुवार काे ईएनटी विभाग के डॉक्टरों ने 11 घंटे तक ओटी चलाकर 6 मरीजों के नाॅन स्टाॅप ऑपरेशन किए। प्रोफेसर डॉ. आरके जैन ने बताया कि टीम में डॉ. विजय मीणा, डॉ. प्रज्ञानंद गौतम, डॉ. निखिल गुप्ता, डॉ. गौरव पाराशर और निश्चेतना विभाग से डॉ. मुकेश सोमवंशी और डॉ. ममता शर्मा शामिल रहे।

खत्म नहीं हो रहा इंजेक्शन का संकट

एमबीएस अस्पताल में म्यूकोर वार्ड शुरू किए जाने और 35 से ज्यादा रोगी भर्ती होने के बावजूद सरकार से एंटी फंगल इंजेक्शन नहीं मिल रहे हैं। अब एक-दो दिन के इंजेक्शन बचे हैं। 40-50 इंजेक्शन मिल रहे हैं, जबकि ये तो 10 मरीजों की डोज है।

खबरें और भी हैं...