जिला आपदा प्रबन्धन समिति की बैठक आयोजित:आपदा राहत में लगाए कार्मिकों का ग्रुप बनाकर अिधकारियों को जोड़ें

कोटा5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिला आपदा प्रबन्धन समिति की बैठक सोमवार को अतिरिक्त कलेक्टर शहर बृजमोहन बैरवा की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में हुई। उन्हाेंने कहा कि हाड़ौती क्षेत्र में अधिक वर्षा होने से बाढ़ की संभावना बढ़ जाती है और जनमानस को अधिक नुकसान उठाना पड़ता है।

उन्होंने सभी विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिए कि बाढ़ प्रभावित लोगों को बचाने के लिए काम आने वाले संसाधनों समय रहते उनकी जांच की जाए, जिससे बचाव एवं राहत कार्य प्रभावित नहीं हों।

उन्होंने कहा कि एनडीआरएफ, एसडीआरएफ, सिविल डिफेंस के कार्मिक जो बचाव एवं राहत कार्य में लगाए गए हैं, उन सभी का एक वाट्सएप ग्रुप तैयार करें, जिसमें नगर निगम, चिकित्सा स्वास्थ्य, जेवीवीएनएल के अधिकारियों को जोड़ा जाए जिससे कहीं भी आपदा की स्थिति बेहतर समन्वय स्थापित किया जाकर बचाव एवं राहत कार्य में गति लाई जा सके।

उन्होंने कहा कि जल भराव वाले क्षेत्रों में लगाए जाने वाले खतरे निशान का सर्वे किया जाए और जहां पर इस प्रकार के निशान मिट चुके हैं वहां पर खतरे के निशान को पुनः प्रदर्शित किया जाए। उन्होंने जिला परिषद को निर्देश दिए कि जिन ग्रामीण क्षेत्रों में हो गए हैं वहां पर शीघ्र गड्ढे भरवाएं जाएं।

खबरें और भी हैं...