भास्‍कर की खबर का असर:एड्स कंट्राेल साेसायटी की टीम काेटा आई, सीएमएचओ से नए हाॅटस्पाॅट की जानकारी ली

काेटा20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
एड्स कंट्राेल साेसायटी की टीम ने सीएमएचओ के साथ बैठक की। - Dainik Bhaskar
एड्स कंट्राेल साेसायटी की टीम ने सीएमएचओ के साथ बैठक की।
  • नशे के आदी लाेगाें का कैंप लगाकर सैंपलिंग कराएंगे

काेटा में एचआईवी का नया हाॅस्टपाॅट मिलने के मामले में भास्कर के खुलासे के बाद सरकार हरकत में आई है। जयपुर से स्टेट लेवल के अधिकारियाें की एक टीम बुधवार काे काेटा आई और एचआईवी काे लेकर सीएमएचओ डाॅ. बीएस तंवर की अध्यक्षता में उच्च स्तरीय बैठक की। टीम ने एमबीएस अस्पताल, नए अस्पताल व इंजेक्टिंग ड्रग यूजर्स की साइट्स पर जाकर हालात देखे। एचआईवी टेस्टिंग और दवाओं की उपलब्धता की जानकारी ली।

सीएमएचओ डाॅ. तंवर ने बताया कि हाल ही में काेटा में एक ही साइट से 12 इंजेक्टिंग ड्रग यूजर्स एचआईवी पाॅजिटिव मिले हैं, इस मामले काे हम बेहद गंभीरता से ले रहे हैं। उसी के तहत आज जयपुर से आई टीम के साथ पूरा प्लान किया है। हमने तय किया है कि अब शहर में इसे लेकर विशेष कैंप लगाएंगे और उन सभी लाेगाें की सैंपलिंग की जाएगी, जाे नशे के आदी है और इंजेक्टिंग या ओरल तरीके से ड्रग ले रहे हैं। इन लाेगाें के एचआईवी के साथ सिफलस, हैपेटाइटिस, वीडीआरएल, टीबी के टेस्ट भी कराए जाएंगे।

भास्कर ने किया था खुलासा

गाैरतलब है कि भास्कर ने 3 अक्टूबर के अंक में इसका खुलासा किया था कि काेटा में एचआईवी का नया हाॅस्टपाॅट मिला है, जिसमें एक ही क्षेत्र में 12 एचआईवी संक्रमित रिपाेर्ट हुए हैं। खबर में यह भी बताया था कि ये सभी इंजेक्टिंग ड्रग यूजर्स है, जाे अक्सर एक ही सीरिंज से नशा करते हैं और इसी कारण यह संक्रमण एक से दूसरे और दूसरे से तीसरे तक पहुंच गया।

काॅलेज में लेक्चरर से चर्चा की यूथ अफेयर्स की असिस्टेंट डायरेक्टर डाॅ. गरिमा सहित टीम काेटा पहुंची। टीम ने काॅलेज के रेड रिबन क्लब की ओर से आयाेजित कार्यक्रम में भाग लिया। काॅलेज में काउंसलर नियुक्त करने की बात सामने आई है। डाॅ. गरिमा ने बताया कि काेटा में अवेयरनेस का बेहतर उदाहरण है कि इस तरह के मामले की शुरूआत में ही पड़ताल कर ली। इसमें सबसे बड़ी बात है कि इसमें स्कूल, काॅलेज वाले स्टूडेंट्स नहीं है। नई पीढ़ी काे अवेयरनेस के लिए प्राेग्राम किए जाएंगे। इसमें नेहरू युवा केंद्र का सहयाेग लिया जाएगा। मंथली कैंप का प्रयास करेंगे। विभाग के डायरेक्टर के निर्देशानुसार कार्यक्रम की रेगुलर गतिविधियां आयाेजित की जाएगी।

खबरें और भी हैं...