पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota
  • Big Names Underground; Police Team Camped In Kota Under The Supervision Of Ajmer IG S Sengathir, Soon There Will Be New Arrests

कोटा में सामने आया नीट-जेईई में फर्जीवाड़े का बड़ा कॉकस:भूमिगत हुए बड़े नाम; अजमेर आईजी एस सेंगाथिर के सुपरविजन में पुलिस टीम ने कोटा में डेरा डाला, जल्द होंगी नई गिरफ्तारियां

कोटा10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
आईजी एस सेंगाथिर का दावा है कि भले ही कोई भी भूमिगत हो जाएं, लेकिन जल्द इस मामले में कोटा से गिरफ्तारियां होगी और नई लीड मिलेगी। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
आईजी एस सेंगाथिर का दावा है कि भले ही कोई भी भूमिगत हो जाएं, लेकिन जल्द इस मामले में कोटा से गिरफ्तारियां होगी और नई लीड मिलेगी। (फाइल फोटो)

नीट-जेईई परीक्षा में डमी कैंडीडेट के जरिए सलेक्शन करवाने के मामले में रविवार को बड़ा खुलासा हुआ है। आरोपियों ने दिल्ली और जयपुर में तो सिर्फ ऑफिस व कॉल सेंटर सेटअप किया था, लेकिन कमजोर स्टूडेंट्स की पहचान और डमी स्टूडेंट हायर करने का पूरा काम कोटा में किया जाता था। यानी नीट-जेईई में फर्जीवाड़े के काॅकस का सीधा जुड़ाव कोटा से है।

अजमेर रेंज आईजी एस सेंगाथिर ने इस पूरे नेक्सस का सीधा जुड़ाव कोटा से होने के बाद देर रात दो पुलिस टीमें कोटा भेजी हैं। दोनों टीमें कोटा पहुंच गई हैं। वहीं, इस काॅकस को चलाने वाले कई बड़े नाम भूमिगत हो गए हैं। आईजी एस सेंगाथिर का दावा है कि भले ही कोई भी भूमिगत हो जाए, लेकिन जल्द इस मामले में कोटा से गिरफ्तारियां होंगी और नई लीड मिलेगी।

गैरहाजिर मिले 39 मेडिकल स्टूडेंट्स, अभिभावकों से लिखित में मांगा जवाब

नीट परीक्षा में मेडिकल स्टूडेंट्स द्वारा डमी अभ्यर्थी बनकर परीक्षा देने की आशंका काे देखते हुए मेडिकल काॅलेज में सुबह 10 से दाेपहर 1 बजे तक स्टूडेंट्स की क्लास लगाई गई। कुल 39 स्टूडेंट एब्सेंट रहे। अब मेडिकल काॅलेज ने उनके पेरेंट्स से लिखित जवाब मांगा है। मेडिकल काॅलेज प्रिंसिपल डाॅ. विजय सरदाना ने बताया कि पहले बैच के 28 और दूसरे बैच के 11 स्टूडेंट एब्सेंट रहे। इसमें से कुछ स्टूडेंट्स छुट्टी पर हैं।

कोचिंग छात्रों और अध्यापकों का भी रोल

पुलिस सूत्रों के मुताबिक आरोपियों से पूछताछ में पता चला है कि कोटा के नामी कोचिंग संस्थानों के नाम से भी फर्जीवाड़े किए गए हैं। इसमें अध्यापकों की भी मिलीभगत है। अब पुलिस इसकी आधिकारिक पुष्टि करेगी। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि सोमवार को कुछ और गिरफ्तारियों की संभावना है, जिसके बाद काफी कुछ क्लियर होगा।

कोटा से अभी तक हो चुकी दो गिरफ्तारियां

अजमेर पुलिस ने इस मामले में 2 दिन पहले कोटा से मोहम्मद दानिश रजा और तनजील को पकड़ा था। अजमेर पुलिस ने डीडवाना एएसपी विमल नेहरा के नेतृत्व में टीम कोटा भेजी है। जिसको लाडनू सीआई राजेन्द्र कमांडो लीड कर रहे हैं। टीम में अजमेर रेंज साइबर सेल के एएसआई पवन कुमार, कांस्टेबल रामधन चौधरी और प्रेम कुमार शामिल हैं।

फर्जीवाड़े में लिप्त सभी छोटे-बड़े नाम भूमिगत हो गए हैं। कई संदिग्ध लोग हमारे टारगेट पर हैं। कोटा से जल्द बड़ी लीड मिलेगी। मैं इतना ही कहूंगा कि हम जल्द रिजल्ट देंगे, हमारी टीमें लगातार फील्ड में हैं। - एस सेंगाथिर, अजमेर आईजी

खबरें और भी हैं...