चार सदस्यीय कमेटी गठित:भाजपा के जांच दल को छबड़ा जाने से रोका

कोटा7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बारां जिले के छबड़ा में हुए उपद्रव के मामले में बीजेपी प्रदेश नेतृत्व ने चार सदस्यीय कमेटी गठित की है। कमेटी के सदस्य सोमवार को छबड़ा जाने वाले थे, लेकिन प्रशासन ने इन्हें कोटा में रोक दिया। टोंक सांसद सुखबीर सिंह जौनापुरिया की अगुवाई वाली इस कमेटी में बीजेपी प्रदेश उपाध्यक्ष व केशवरायपाटन विधायक चंद्रकांता मेघवाल, कोटा दक्षिण विधायक संदीप शर्मा व बारां बीजेपी के पूर्व जिलाध्यक्ष आनंद गर्ग को शामिल किया गया है। जौनापुरिया ने कोटा सर्किट हाउस में मीडिया से बातचीत के दौरान इस पूरे घटनाक्रम को लेकर बारां प्रशासन की भूमिका पर सवाल उठाए। उन्हाेंने कहा कि एक समाज की जो दुकानें और शोरूम हैं, उनका काफी नुकसान हुआ है। दूसरे समाज के लोगों के कुछ टायर जले हैं। हम चाहते हैं कि इस घटनाक्रम की निष्पक्ष जांच हो और प्रशासन कड़ी कार्रवाई करें।

हम चाहते हैं कि जो नुकसान हुआ है, उसकी भरपाई हो। विधायक चंद्रकांता मेघवाल ने कहा कि प्रशासन और पुलिस की मौजूदगी में 5 घंटे तक आगजनी और तोड़फोड़ होती रही, यह समझ से परे है। संदीप शर्मा ने कहा कि सरकार एक तरफा कार्रवाई कर रही है, जबकि एक पक्ष के लोगों ने दूसरे पक्ष का ज्यादा नुकसान िकया है, सरकार दोनों पक्षों की तरफ से बराबर नुकसान की बात कह रही है। घटनाक्रम को लेकर जिम्मेदार प्रशासन के अधिकारियों पर कार्रवाई होनी चाहिए। कोटा में हुई वार्ता के बाद प्रतिनिधिमंडल ने छबड़ा जाने का कार्यक्रम रद्द कर दिया। इससे पहले अारटीयू के रजिस्ट्रार नरेश मालव व काेटा सिटी एसपी विकास पाठक वार्ता के लिए सर्किट हाउस पहुंचे।

खबरें और भी हैं...