• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota
  • Both Congress Mayors Did Not Reach Ashapala Temple For Worship, BJP Councilors Accused The Corporation Of Making The Corporation An Arena Of Appeasement, The South Mayor Said – The Agent Had Gone Out Of Work Kota Rajasthan

पूजा पर राजनीति!:आशापाला मंदिर में पूजा में नहीं पहुंचे कांग्रेस के दोनों महापौर, बीजेपी पार्षदों ने निगम को तुष्टीकरण का अखाड़ा बनाने के आरोप लगाए, दक्षिण महापौर बोले-अर्जेन्ट काम से बाहर गया था

कोटा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आशापाला मंदिर पर की जाने वाली पूजा में दोनों नगर निगम के महापौर, उपमहापौर व कई अधिकारी नदारद रहे। - Dainik Bhaskar
आशापाला मंदिर पर की जाने वाली पूजा में दोनों नगर निगम के महापौर, उपमहापौर व कई अधिकारी नदारद रहे।

नवरात्र के पहले दिन राष्ट्रीय दशहरे मेले पर आशापाला मंदिर पर की जाने वाली पूजा में दोनों नगर निगम के महापौर, उपमहापौर व कई अधिकारी नदारद रहे। कोरोना गाइडलाइन की पालना करते हुए इस बार परंपरा को निर्वहन करने के लिए यह आयोजन किया गया। जिसमें कोटा दक्षिण नगर निगम आयुक्त कीर्ति राठौड़ बीजेपी पार्षद विवेक राजवंशी के अलावा कई पार्षद मौजूद रहे।

भाजपा पार्षदों ने कांग्रेस नेताओं पर राजनीतिक लाभ लेने के लिए हिंदु परम्पराओं का अपमान करने का आरोप लगाया है।
भाजपा पार्षदों ने कांग्रेस नेताओं पर राजनीतिक लाभ लेने के लिए हिंदु परम्पराओं का अपमान करने का आरोप लगाया है।

भाजपा पार्षदों ने दोनों नगर निगम के महापौर व उपमहापौर पर तुष्टीकरण की राजनीति करने व राजनीतिक स्वार्थ के लिए सदियों से चली आ रही धार्मिक परम्परा का निर्वह्न नहीं करने का आरोप लगाया है। भाजपा पार्षदों ने कांग्रेस नेताओं पर राजनीतिक लाभ लेने के लिए हिंदु परम्पराओं का अपमान करने का आरोप लगाया है।

भाजपा पार्षद विवेक राजवंशी ने कहा कि नवरात्र के प्रथम दिन आशापाला मंदिर में आरती व पूजा कर राष्ट्रीय दशहरा मेल के शुभारंभ की परम्परा बरसों से जारी है। बोर्ड किसी भी दल का हो लेकिन ये परम्परा निभाई जाती है लेकिन दक्षिण निगम के महापौर राजीव अग्रवाल, उपमहापौर पवन मीणा व उत्तर की महापौर मंजू मेहरा, उपमहापौर सोनू कुरेशी व अधिकारयों ने इस कार्यक्रम से दूरी बनाकर हिंदु समाज को ठेस पहुंचाने पहुंचाई है, इससे समाज में गलत संदेश गया है।

इस मामले में कोटा दक्षिण महापौर राजीव अग्रवाल का कहना है कि अर्जेन्ट काम के सिलसिले में वो बाहर चले गए थे। शाम को ही लौटे है। इस कारण पूजा में शामिल नहीं हो सकें। इस बारे में कोटा उत्तर महापौर मंजू मेहरा से सम्पर्क किया। लेकिन उन्होंने जवाब नही दिया। बाद में उनका मोबाइल स्विच ऑफ आया।

खबरें और भी हैं...