• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota
  • Brought From Bihar 6 Years Ago, Doing Work Like A Laborer Was Getting The Girl Done, Child Line, Police And Child Welfare Committee Rescued Kota Rajasthan

इंजीनियर के घर से नाबालिग का रेस्क्यू:15 साल की लड़की को 6 साल पहले बिहार से लेकर आई थी पत्नी, बंधक बना काम करवाते रहे; हाथ झुलसे मिले

कोटाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कोटा की रेलवे कॉलोनी थाना क्षेत्र के पूनम कॉलोनी से 15 साल की लड़की का रेस्क्यू किया है। बिजली विभाग के इंजीनियर ने अपने घर में बच्ची को 6 साल से बंधक बनाकर रखा था। वहां उससे मजदूर की तरह काम करवाया जा रहा था। शिकायत के बाद बाल कल्याण समिति के सदस्यों ने मौके पर पहुंचकर बच्ची का रेस्क्यू किया।

इस टीम में विमल चंद जैन आबिद हुसैन अब्बासी, बाल संरक्षण अधिकारी दिनेश शर्मा ,चाइल्ड लाइन शहर कोऑर्डिनेटर रेखा शाक्य व रेलवे कॉलोनी थाने के बाल कल्याण अधिकारी जगदीश प्रसाद साथ थे।

कार्रवाई करने पहुंची टीम।
कार्रवाई करने पहुंची टीम।

चाइल्ड लाइन शहर कोऑर्डिनेटर रेखा शाक्य ने बताया कि शिकायत पर चाइल्ड लाइन, पुलिस, बाल कल्याण समिति औरबाल अधिकारिता विभाग की संयुक्त टीम ने कार्रवाई की है। बालिका को साल 2015 में बिहार से कोटा लाया गया था। तब से ही बिजली विभाग के असिस्टेंट इंजीनियर (AEN) रूपेश कुमार के घर में काम कर रही थी। रूपेश कुमार की पत्नी बिहार की रहने वाली है। वो गांव से बालिका को साथ लेकर आई थी।

मारपीट की बात बताई
पूछताछ में बालिका ने मारपीट करने की बात बताई है। बालिका के हाथ भी झुलसे हुए हैं। बालिका को रेस्क्यू करके नारी निकेतन ले जाया गया। सीडब्ल्यूसी के सामने पेश किया गया। बालिका को अपने माता-पिता व गांव का नाम याद नहीं है। रूपेश कुमार की पत्नी ने नाम पते बताए। जिसके बाद टीम ने बालिका के माता-पिता से संपर्क करने की कोशिश की, लेकिन संपर्क नहीं हो पाया।

खबरें और भी हैं...