• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota
  • Bundi Women's Police Station CI Came To The Court By Covering Her Mouth, Took 7 Thousand In Lieu Of Her Resignation Kota Rajasthan

मुंह छिपाकर कोर्ट पहुंची रिश्वत लेने वाली महिला CI:महिला थाना प्रभारी और कांस्टेबल को 15 दिन की जेल, राजीनामे के लिए ली थी 7 हजार की रिश्वत

कोटा10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पेशी के दौरान महिला थाना प्रभारी अंजना नोगिया अपना मुंह ढककर कोर्ट में पहुंची। - Dainik Bhaskar
पेशी के दौरान महिला थाना प्रभारी अंजना नोगिया अपना मुंह ढककर कोर्ट में पहुंची।

राजीनामा लिखवाने व मामले को रफा-दफा करने की एवज में 7 हजार की रिश्वत लेते गिरफ्तार हुई बूंदी महिला थाना प्रभारी व कांस्टेबल को ACB बारां की टीम ने आज कोटा ACB कोर्ट में पेश किया। जहां से दोनों को कोर्ट ने 15 दिन की न्यायिक अभिरक्षा में भेजने के आदेश दिए। पेशी के दौरान महिला थाना प्रभारी अंजना नोगिया अपना मुंह ढककर कोर्ट में पहुंची। बारां ACB डीएसपी अनीस अहमद ने बताया कि कोर्ट से रिमांड की मांग की थी। कोर्ट ने दोनों को 9 दिसंबर तक जेल भेजने के आदेश दिए है।

दोनों को कोर्ट ने 15 दिन की न्यायिक अभिरक्षा में भेजने के आदेश दिए।
दोनों को कोर्ट ने 15 दिन की न्यायिक अभिरक्षा में भेजने के आदेश दिए।

इधर ACB की दो टीमों ने आरोपियों की घर की तलाश ली। हाउस सर्च में महिला सीआई अंजना नोगिया के कोटा में एक मकान मिला है। बजरंग नगर आदित्य आवास में डेढ़ साल पहले ही 25 बाई 60 का मकान खरीदा था। जिसमें वो 7-8 दिन पहले ही शिफ्ट हुए थे।

ये था मामला

परिवादी ने 18 नवंबर को बारां ACB में लिखित में शिकायत दी थी। जिसमें बताया था कि उसकी पत्नी बूंदी में रहती है। विवाद के चलते पत्नी ने उसके खिलाफ महिला थाना बूंदी में रिपोर्ट कर रखी है। महिला थाना पुलिस ने परिवादी को थाने बुलाया। रिपोर्ट में राजीनामा लिखवाने व मामले को रफा-दफा करने के लिए थाना प्रभारी अंजना नोगिया व कांस्टेबल सुरेश ने 10 हजार की रिश्वत मांगी। 19 नवंबर को शिकायत सत्यापन के बाद ACB ने ट्रेप का जाल बिछाया।

बुधवार को परिवादी ने कांस्टेबल सुरेश को 7000 रुपए दिए। इशारा मिलते ही ACB थाने में पहुंची। टीम को देखकर थाने में हड़कंप मच गया। मौका पाकर कांस्टेबल सुरेश दौड़ता हुआ थाने की छत पर पहुंच गया। अपने आप को बाथरूम में बंद कर लिया। उसने रिश्वत की रकम बाथरूम की खिड़की से थाने के पीछे फेंक दी। 5 मिनट बाद कांस्टेबल ने गेट खोला। मामले में संलिप्तता सामने आते ही महिला थानाप्रभारी को भी गिरफ्तार किया।