डैमेज कंट्राेल में जुटी बीजेपी:प्रत्याशियाें ने कहा-बड़े नेता साथ नहीं दे रहे, पुलिस परेशान कर रही

कोटा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पंचायत चुनाव को लेकर बैठक लेते बीजेपी प्रभारी प्रभुलाल सैनी। - Dainik Bhaskar
पंचायत चुनाव को लेकर बैठक लेते बीजेपी प्रभारी प्रभुलाल सैनी।
  • चुनाव की रणनीति तैयार करने के लिए बीजेपी के प्रभारी पूर्व मंत्री प्रभुलाल सैनी ने ली बैठक

पंचायतीराज चुनाव में बीजेपी में टिकट वितरण से उपजे असंताेष और कार्यकर्ताओं में नाराजगी के बीच डेमेज कंट्राेल के लिए मंगलवार काे पार्टी के चुनाव प्रभारी पूर्व कृषि मंत्री प्रभुलाल सैनी ने बारां राेड स्थित एक निजी हाेटल में प्रमुख कार्यकर्ताओं की बैठक ली।

बैठक में जिला परिषद का चुनाव लड़ रहे बीजेपी प्रत्याशी, सभी जिला पदाधिकारियाें के अलावा प्रदेश महामंत्री व रामगंजमंडी विधायक मदन दिलावर, देहात जिलाध्यक्ष मुकुट नागर, जिला प्रभारी शंकरलाल ठाडा, लाडपुरा विधायक कल्पना देवी, पूर्व विधायक हीरालाल नागर, पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष प्रहलाद पंवार आदि माैजूद रहे। बैठक में नेताओं ने प्रत्याशियाें और पदाधिकारियाें काे समन्वय से काम करते हुए चुनाव जीतने की रणनीति पर काम करने काे कहा। साथ ही सभी प्रत्याशियाें से इस बात का भी फीडबैक लिया कि उन्हें कहीं काेई समस्या ताे नहीं आ रही।

इसी बीच कुछ प्रत्याशियाें ने अपनी पीड़ा व्यक्त की और कहा कि हमें अपने हाल पर छाेड़ दिया है, बड़े नेता फील्ड में मदद नहीं कर रहे। एक प्रत्याशी ने अपने क्षेत्र में समाज विशेष की नाराजगी की बात कही और यहां तक कहा कि यदि इस समाज के वाेट नहीं मिले ताे मैं चुनाव हार जाऊंगा। इस पर प्रभारी सैनी ने कहा कि वे इस जाति वर्ग के मतदाताओं काे समझाने के लिए एक पूर्व विधायक काे आपके क्षेत्र में भेजेंगे। एक प्रत्याशी ने कहा कि पुलिस भी हमें तंग कर रही है, एक दिन पहले पुलिस ने डीजे पकड़ लिया, जिसे छुड़ाने के लिए हम सभी नेताअाें काे फाेन करते रहे। अंत में संगठन के नेताओं ने पुलिस पर दबाव बनाकर डीजे छुड़वाया।

कई मुद्दों पर हुई चर्चा : बैठक में जिला परिषद और सुल्तानपुर पंचायत समिति से एक-एक प्रत्याशी का आवेदन खारिज हाेने, लाडपुरा से पार्टी की अधिकृत प्रत्याशी द्वारा नाम वापस लेने जैसे मुद्दाें पर भी चर्चा हुई, लेकिन सभी नेताओं ने एकसुर में कहा कि अब पूरी जी जान से जुट जाएं, चुनाव हर हाल में जीतना है। हमें टारगेट लेकर चलना है कि जिला परिषद की बची हुई 22 में से 20 सीटें जीतें। प्रत्याशियों को कानूनी जानकारी के लिए एडअतीश सक्सेना को नियुक्त किया।

बैठक में पहुंच गए टिकट कटने से नाराज कार्यकर्ता
टिकट वितरण काे लेकर नाराजगी इस बैठक में दिखी। बैठक में मंडाना क्षेत्र के पदाधिकारी आ गए और चुनाव प्रभारी सैनी से अपनी बात कही। इन्हाेंने कहा कि प्रदेश नेतृत्व से जारी सिंबल में भी स्थानीय स्तर पर बदलाव कर दिया गया। उन्हाेंने विधायक पर नाम बदलने का आराेप लगाया। कार्यकर्ताओं का कहना था कि प्रदेश से जारी सूची में उनका नाम था। भाजपा कार्यकर्ता मोहन सुमन का कहना है कि उसकी जगह जिस व्यक्ति को टिकट दिया गया है, वह कांग्रेस पृष्ठभूमि से है। हालांकि सैनी ने उनकी समझाइश की और कहा कि सभी काे टिकट नहीं मिल सकता।

कलेक्टर ने लिया तैयारियाें का जायजा : उधर, जिला निर्वाचन अधिकारी उज्ज्वल राठौड़ ने मंगलवार को मतदान दल रवानगी स्थल एवं मतदान सामग्री वितरण एवं संग्रहण केंद्र का अधिकारियों के साथ जायजा लिया। जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशों के अनुरूप ईवीएम की तैयारी एवं मतदान दल रवाना स्थल पर की जाने वाली व्यवस्थाओं को अधिकारी व्यक्तिगत निगरानी में समय पर पूरा करें।

उन्होंने मतदान सामग्री वितरण स्थल जेडीबी कॉलेज तथा मतदान दलों के रवानगी स्थल महाराव उम्मेदसिंह स्टेडियम का निरीक्षण कर तैयारियां देखी। उनके साथ एसपी ग्रामीण कावेंद्र सिंह सागर, नगर निगम उत्तर आयुक्त वासुदेव मालावत, एडीएम प्रशासन राजकुमार सिंह, एएसपी सिटी प्रवीण जैन, मुख्यालय राजेश मील सहित सभी प्रकोष्ठों के प्रभारी अधिकारी एवं रिर्टनिंग अधिकारी उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं...