आज से 3 मई तक यलाे अलर्ट:आंधी के साथ बूंदाबांदी की संभावना

कोटा6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • लगातार दूसरे दिन भी इस सीजन की सबसे अधिक गर्मी, अधिकतम तापमान 43.4 डिग्री रहा, रात का पारा भी तीन डिग्री बढ़ा

पश्चिमी विक्षाेभ का असर जारी है। शहर में दूसरे दिन भी गर्मी ने रिकाॅर्ड ताेड़ दिया है। गुरुवार काे दूसरे दिन भी सीजन का सबसे गर्म दिन रहा। शहर में दाेपहर तक गर्म हवाओं के साथ तपन बनी रही। दाेपहर बाद एक-दाे आसमान में छाए रहने से भी राहत नहीं मिली।

अधिकतम पारा 43.4 डिग्री सेल्सियस रिकाॅर्ड किया जबकि न्यूनतम पारा 27.6 डिग्री सेल्सियस रिकाॅर्ड किया। जबकि बुधवार काे अधिकतम पारा 43.4 और न्यूनतम 24.1 डिग्री सेल्सियस रिकाॅर्ड किया। शहर में पिछले दाे दिन से तेज गर्मी के साथ गर्म हवाओं के थपेड़े जारी हैं। माैसम विभाग के अनुसार सुबह 8.30 बजे की आर्द्रता 24 प्रतिशत से घटकर 8 प्रतिशत रिकाॅर्ड की गई।

हवा की स्पीड 5 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से रही। पिछले साल से अधिकतम पारा 30 अप्रैल काे 42.6 डिग्री सेल्सियस रिकाॅर्ड किया था। गुरुवार सुबह 8.30 बजे का पारा 34 डिग्री से बढ़कर सुबह 11.30 बजे 39.4 और दाेपहर 2.30 बजे पारा बढ़कर 42.8 और शाम 5.30 बजे पारा 42 डिग्री सेल्सियस रिकाॅर्ड किया।

पश्चिमी विक्षाेभ के असर से बदल रहा मौसम

जयपुर माैसम विभाग के डायरेक्टर राधेश्याम शर्मा के अनुसार पश्चिमी विक्षाेभ के असर से शुक्रवार से अधिकतम पारा में एक-दाे डिग्री सेल्सियस की गिरावट की संभावना है। साथ जिले के कुछ जगहाें पर मेघगर्जन के साथ बूंदाबांदी भी हाे सकती है। माैसम विभाग की और से 3 मई तक यलाे अलर्ट जारी किया गया है, जिसमें मेघ गर्जन के साथ धूल भरी आंधी और तेज हवाएं चलने का अलर्ट है। अगले एक सप्ताह तक प्रदेश के कुछ भागों में आंधी-बारिश का सिस्टम सक्रिय हाेगा।

तापमान में 2 से 4 डिग्री सेल्सियस की गिरावट होगी। एक नया पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने से जोधपुर और उदयपुर, बीकानेर, भरतपुर, जयपुर व अजमेर संभाग के जिलों में कहीं-कहीं मेघगर्जन व तेज हवाओं/ आंधी के साथ हल्की बारिश होने की संभावना है। सिस्टम का सर्वाधिक असर दोपहर के बाद थंडरस्टोर्म के साथ धूल भरी आंधी (हवा की गति 40 से 50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार) और हल्के दर्जे की बारिश के रूप में रहेगा।

खबरें और भी हैं...