पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

एजुकेशन:कोटा में लौटने लगे कोचिंग स्टूडेंट्स

कोटा8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

15 अक्टूबर से स्कूल खाेले जाने के साथ ही काेटा में काेचिंग स्टूडेंट्स लाैटने लगे हैं। स्टूडेंट्स काेटा आने के साथ कोचिंग संस्थानों में एडमिशन से लेकर काउंसलिंग के लिए पहुंच रहे हैं। वहीं, कई स्टूडेंट्स ने हॉस्टल और पीजी में रहकर पढ़ाई भी शुरू कर दी है। हाॅस्टल संचालकाें की ओर से स्टूडेंट्स के लिए हाॅस्टल संबंधित तैयारियां शुरू हाे चुकी हैं। स्टूडेंट्स की संख्या बढ़ने से हॉस्टल्स, पीजी, मैस, रेस्टोरेंट्स भी तैयारियाें में जुटे हैं। स्टूडेंट्स का कहना है कि उम्मीद हैं कि जल्द ही काेचिंग शुरू हाेगी और पढ़ाई फिर से पटरी पर लाैट सकेगी।

कोचिंग शुरू करवाने के लिए धारीवाल से मिले संचालक

कोटा में जल्दी ही शिक्षण संस्थानों को दुबारा शुरू करने को लेकर कोटा कोचिंग व हाॅस्टल एसोसिएशन का एक प्रतिनिधिमंडल मंगलवार काे शहर जिलाध्यक्ष रविन्द्र त्यागी के नेतृत्व में यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल से मिला। त्यागी ने बताया कि धारीवाल इस संदर्भ में पहले ही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से वार्ता कर चुके हैं। उसी के अनुरूप प्रतिनिधिमंडल को जयपुर बुलाया। धारीवाल ने मुख्य सचिव राजीव स्वरूप को फोन पर निर्देश दिए कि कोटा की कोचिंग व हाॅस्टल का प्रतिनिधिमंडल आ रहा है।

इसके बाद वे सभी मुख्य सचिव के पास पहुंचे। जहां लगभग 30 मिनट तक वार्ता हुई, जिसमें कोटा शहर की कोचिंग और होस्टल्स को पुनः चालू करने की गाइडलाइंस बना कर जल्द चालू करने की बात हुई। मुख्य सचिव ने कहा कि विस्तृत गाइड लाइन बनाने के लिए गृहसचिव से मिले। इसके बाद प्रतिनिधमंडल गृहसचिव अभय कुमार से मिला।

प्रतिनिधिमंडल में त्यागी के साथ एलन कोचिंग निदेशक नवीन माहेश्वरी, रेजोनेंस कोचिंग निदेशक आरके वर्मा, मोशन कोचिंग निदेशक नितिन विजय, चंबल हाॅस्टल के अध्यक्ष शुभम अग्रवाल, कोटा हॉस्टल एसोसिएशन अध्यक्ष नवीन मित्तल मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...