• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota
  • Congress Workers Mobilized Against The Electricity Company, Demand For Audit Of The Company, Will Give Memorandum To The Collector

निजी बिजली कंपनी का विरोध:कांग्रेस कार्यकर्ता बिजली कंपनी के विरोध में लामबद्ध, कंपनी का ऑडिट करवाने की मांग

कोटा4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आंदोलन पर सहमति - Dainik Bhaskar
आंदोलन पर सहमति

निजी बिजली कंपनी केईडीएल के द्वारा लूटने का आरोप लगाते हुए कांग्रेस जिला महामंत्री विपिन बरथुनिया और सचिव साजिद खान ने कार्यकर्ताओं की बैठक ली। जिसमें निजी बिजली कंपनी के खिलाफ जन आंदोलन करने की रूपरेखा तैयार की गई। इस दौरान विपिन बरथुनिया ने कहा कि केईडीएल के द्वारा अपने वादों से मुकरा जा रहा है। इनके ट्रांसफर को कवर करने के लिए उन्होंने वादा किया था, लेकिन यह सारे वादे दिखावे के लिए थे, जिसके कारण कई गायों की मौत हो गई। लेकिन उनका मुआवजा अभी तक नहीं दिया गया है।

ज्यादा वोल्टेज आने से जिन घरों के उपकरण खराब होते हैं उसका मुआवजा देने के लिए भी वादा किया गया था, लेकिन खाई रोड नयापुरा में जब उपकरण जले तो उनका मुआवजा अभी तक नहीं दिया। इसके साथ ही कंपनी ने वादा किया था की 1 घंटे से ज्यादा बिजली कटौती हुई तो जनरेटर लगाकर बिजली सप्लाई की जाएगी।

जबकि हकीकत में कंपनी रोज 4 से 5 घंटे का शटडाउन अलग-अलग एरिया में लेती है और जब से आई है जब से ले रही है। जिससे आमजन को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। आज के समय ऑनलाइन क्लासेस का टाइम चल रहा है, ऐसे में बिजली कटौती होने के कारण बच्चों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इसके साथ ही जबरन घर के बाहर खुद के ही मीटर हटाकर दूसरे मीटर लगाए जा रहे हैं। जो पूर्ण रूप से उपभोक्ताओं के अधिकार का हनन है।

कंपनी आम जनता को लूटने की भावना से नए-नए तरीके अपनाने में लगी हुई है। जिसके विरोध में कांग्रेस आर पार की लड़ाई को लेकर जन आंदोलन करेंगे। जिसके तहत आगामी गुरुवार को कलेक्टर साहब को ज्ञापन देकर कंपनी का ऑडिट कराने की मांग रखी जाएगी। अगर मांगों को नहीं माना गया तो मंगलवार को कोटड़ी चौराहे से विशाल रैली निकालकर जन आंदोलन का शंखनाद किया जाएगा।