पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota
  • Corona's Double Century On The Second Day As Well; 280 Patients Arrived, Got 1038 Positive In 5 Days, Both Super Specialty ICUs Full

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरोना पर करें टीके से वार:दूसरे दिन भी कोरोना का दोहरा शतक; 280 रोगी आए, 5 दिन में मिले 1038 पाॅजिटिव, सुपर स्पेशियलिटी के दोनों आईसीयू फुल

कोटा13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोविड वार्ड में रिकॉर्ड 111 रोगी ऑक्सीजन पर, हॉस्पिटल में फिर शुरू हुई बेड की मारामारी

कोटा में कोरोना संक्रमण के आंकड़े पहली लहर की पीक से भी ज्यादा डरा रहे हैं। सोमवार को भी कोटा में 280 नए मरीज रिपोर्ट हुए हैं, इससे पहले रविवार को भी 225 पॉजिटिव मिले थे। लगातार दूसरे दिन डबल सेंचुरी क्रॉस होने के साथ ही अप्रैल के शुरुआती महज 5 दिन में कुल नए मरीजों की संख्या 1 हजार पार हो गई है। कोटा में 1 अप्रैल से सोमवार तक 1038 नए केस रिपोर्ट हो चुके हैं। अब कोटा में एक्टिव मरीज 1295 हो चुके हैं। उधर, कोविड हॉस्पिटल में सोमवार को एक और मरीज की मौत हो गई।

स्टेशन क्षेत्र की महात्मा गांधी कॉलोनी निवासी 50 साल का यह पुरुष 31 मार्च से एडमिट था, जिसकी सोमवार दोपहर में मौत हो गई। हालांकि सरकारी रिपोर्ट में कोई मौत नहीं बताई गई है। वहीं दो दिन के अंदर 15 रेलकर्मी पॉजिटिव मिले। रविवार को कोटा रेल मंडल में 9 रेल कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव आए थे। सोमवार को 6 कर्मचारी संक्रमित मिले।

नए अस्पताल के काेविड वार्ड में 173 मरीज भर्ती : नए अस्पताल व एसएसबी में संचालित कोविड वार्डों में एक बार फिर बेड के लिए मारामारी शुरू होने के हालात बन रहे हैं। एसएसबी में संचालित दोनों कोविड आईसीयू फुल हो गए हैं, यहां दोनों आईसीयू में 28-28 मरीज भर्ती हैं। प्रबंधन के मुताबिक, सोमवार शाम तक कोविड वार्डों में 173 मरीज एडमिट हैं, इनमें से 111 ऑक्सीजन पर हैं, 13 मरीज बाइपेप व 1 वेंटीलेटर पर है।

30 दिन में ही 10 गुना तक बढ़ गया पाॅजिटिविटी रेट, मार्च के शुरुआत में 1-2 प्रतिशत था, अब 12 से 17 प्रतिशत तक पहुंचा
काेटा में काेविड संक्रमित राेगियाें का पाॅजिटिविटी रेट तेजी से बढ़ रहा है। यह सारा बदलाव महज 30 दिन में हुआ है और जिस रफ्तार से मरीज बढ़े हैं, उससे चिकित्सा विशेषज्ञ खासे चिंतित हैं। मार्च के शुरुआती दिनाें में जितने सैंपल लिए जा रहे थे, उनमें 1 या 2 प्रतिशत तक मरीज पाॅजिटिव मिल रहे थे।

यानी 100 में से 1 या 2 लाेगाें में संक्रमण की पुष्टि हाे रही थी। लेकिन मार्च के आखिरी हफ्ते और अब अप्रैल के शुरुआती दिनाें में यह पाॅजिटिविटी रेट 12 से 17 प्रतिशत तक आ रहा है। लगातार बढ़ रहे इसी पाॅजिविटी रेट से समूचे चिकित्सा विभाग में हड़कंप मचा है, क्याेंकि इसी आकड़े से यह बात स्पष्ट हो रही है कि आने वाले दिनों में हालात पहले से भी ज्यादा विस्फोटक हो सकते हैं। जबकि जनवरी और फरवरी में औसत पूरे माह का पाॅजिटिविटी रेट 2 से 3 प्रतिशत था, जबकि उस वक्त सैंपलिंग कम थी।

सोमवार को चेक हुए 1902 में से औसतन हर सातवां सैंपल पॉजिटिव मिला
सोमवार को कोविड के 1902 सैंपल चेक किए गए। इसमें से 280 पॉजिटिव मिले। यानी औसतन हर सातवां सैंपल पॉजिटिव मिला। ये आंकड़े पहली लहर की तुलना में ज्यादा हैं।

कोरोना को देखते हुए ट्रेनों के एसी कोच से पर्दे हटाए
काेराेना की दूसरी लहर के कारण अब अब ट्रेनाें के एसी कोच में यात्रियों को कंबल और चादर नहीं दी जाएगी। साथ ही सभी डिब्बों से पर्दे भी हटाए जाने लगे हैं। रेलवे ने कोरोना संक्रमण को कम करने के लिए यह कदम उठाया है। एसी कोच में पर्दों की जगह रोलर ब्लाइंड लगा दिए गए हैं, जिनके संपर्क में आमतौर पर यात्री कम आएंगे और कोरोना का संक्रमण फैलने की आशंका कम रहेगी। ये पर्दे खिड़की से चिपके रहते हैं और इन्हें आसानी से सरकाया भी जा सकता है। इससे पहले भी कोरोना की पहली लहर के समय रेलवे ने पर्दे हटाए थे और कंबल चादरें देनी बंद कर दी थी।

भास्कर इंटरव्यू (डॉ. बीएस तंवर, सीएमएचओ, कोटा)
कोटा में 8 माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाए, बाजारों में सख्ती बढ़ाएंगे : सीएमएचओ
Q. पॉजिटिविटी रेट लगातार बढ़ रहा है, क्या कारण मानते हैं?
- जी हां, औसत 10 प्रतिशत तक पहुंच गया है और इस स्थिति को हम लगातार मॉनिटर कर रहे हैं। आने वाले दिनों को लेकर हम पहले ही कह चुके हैं कि स्थिति चिंताजनक होने वाली है। लाेगाें काे यह समझना हाेगा कि काेविड प्राेटाेकाॅल फाॅलाे करके ही इससे बचा जा सकता है।
Q. आने वाले दिनाें काे लेकर आपकी क्या तैयारी है?
-हम हर वह तैयारी कर रहे हैं, जाे जरूरी है। सैंपलिंग बढ़ाई जा चुकी, प्रशासन व पुलिस के साथ मिलकर हम बाजाराें में सख्ती भी कर रहे हैं। माइक्राे कंटेनमेंट जाेन बना रहे हैं, अब तक काेटा में करीब 8 बनाए जा चुके, जहां से ज्यादा केस आ रहे हैं। हाॅस्पिटलाें में बेड व ऑक्सीजन काे लेकर भी प्रशासनिक स्तर पर व्यापक समीक्षा चल रही है।
Q. हाेम आइसाेलेशन में मरीज बढ़ रहे हैं, उन्हें समय पर दवा मिल रही है या नहीं, बहुत सारे लाेग शिकायतें कर रहे हैं?
- हाेम आइसाेलेशन वाली व्यवस्था काे पहले की तरह सृदृढ़ कर रहे हैं। हर पेशेंट काे दवा मिल रही है, हां यह मैं स्वीकार करता हूं कि थाेड़ा लेट हाे सकता है। असल में एक साथ ज्यादा मरीज आने पर टीमें पहले बुजुर्गाें काे दवा देती है, फिर कम उम्र वालाें काे।
Q. क्या यही पीक है या आने वाले दिनाें में मरीज और बढ़ेंगे?
- इस बीमारी काे लेकर आज तक काेई अनुमान सटीक नहीं बैठ पाया। लेकिन इतना जरूर कह सकते हैं कि यदि लाेग ढंग से मास्क और साेशल डिस्टेंसिंग की पालना करने लग जाएं ताे बहुत कम समय में असर दिखने लगेगा।

22017 लोगों को पहली और 1324 को लगी कोविड वैक्सीन की दूसरी डोज
सोमवार को जिले में 177 साइट पर वैक्सीनेशन सेशन आयोजित किए गए। इनमें 22017 लाभार्थियों को कोविड वैक्सीन की पहली, जबकि 1324 को दूसरी डोज लगी। सीएमएचओ डॉ. बीएस तंवर ने बताया कि पहली डोज लगवाने वालों में 45 से 59 वर्ष आयु वर्ग के 14950 व्यक्ति, 60 वर्ष से अधिक आयु के 7065, एक हेल्थ वर्कर व एक फ्रंट लाइन वर्कर शामिल रहे।

सीएमएचओ ने बताया कि 16 जनवरी से लेकर अब तक आयोजित 3843 सेशन में विभिन्न श्रेणियों के 203289 लाभार्थियों को पहली डोज लगी, जबकि 31993 को दूसरी डोज लगाई जा चुकी है।
वैक्सीन की 40 हजार डोज मिली : कोटा को सोमवार को कोविड वैक्सीन की 40 हजार डोज और मिली है। वैक्सीनेशन प्रभारी डॉ. अभिमन्यु शर्मा ने बताया कि डिप्टी सीएमएचओ डॉ. घनश्याम मीणा व वैक्सीन स्टोर के इंचार्ज अली हुसैन वैक्सीन लेकर आए।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- कुछ रचनात्मक तथा सामाजिक कार्यों में आपका अधिकतर समय व्यतीत होगा। मीडिया तथा संपर्क सूत्रों संबंधी गतिविधियों में अपना विशेष ध्यान केंद्रित रखें, आपको कोई महत्वपूर्ण सूचना मिल सकती हैं। अनुभव...

    और पढ़ें