पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota
  • Dhariwal Said There Is No Dispute With Dotasara, Will Obey Everything, There Remains Agreement And Disagreement Among Friends

गोविंद मेरे सखा!:धारीवाल बोले- डोटासरा से कोई विवाद नहीं, उनकी हर बात मानेंगे, मित्रों के बीच सहमति-असहमति बनी रहती है

कोटा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डाेटासरा ने कहा था- धारीवाल ने जयपुर में एक बैठक नहीं ली - Dainik Bhaskar
डाेटासरा ने कहा था- धारीवाल ने जयपुर में एक बैठक नहीं ली
  • कैबिनेट बैठक में कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष डोटासरा पर गरम हुए यूडीएच मंत्री धारीवाल अब नरम

कैबिनेट बैठक में कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गाेविंद सिंह डाेटासरा और यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल के बीच हुए विवाद का दाे दिन बाद मंत्री धारीवाल ने यह कहते हुए पटाक्षेप कर दिया कि डाेटासरा मेरे मित्र हैं। मित्राें के बीच सहमति और असहमति ताे बनती रहती है। पीसीसी चीफ की बात मानी जाएगी। हर नेता की तरह उन्हाेंने भी इस विवाद का दाेष मीडिया के सिर पर मढ़ दिया कि मीडिया ने छाेटी सी बात काे विवाद का रूप दे दिया।

देखलेने और साेनिया गांधी से शिकायत जैसी बाताें से भी उन्हाेंने यही कहते हुए इनकार कर दिया। काेटा में शनिवार काे आयाेजित प्रेसवार्ता में जब यूडीएच मंत्री धारीवाल से डाेटासरा के साथ बैठक में हुए विवाद पर सवाल किया गया ताे उन्हाेंने कहा कि शनिवार की यह प्रेसवार्ता और शुक्रवार ली गई अधिकारियाें की बैठक भी पीसीसी के आदेश का ही हिस्सा है। पीसीसी की बात मानी जा रही है।

उनके आदेशाें की पालना हाेती है। बात सिर्फ सहमति और असहमति की थी, जिसे मीडिया ने विवाद बना दिया। ज्ञापन देने में शामिल क्याें नहीं हुए इस सवाल पर मंत्री धारीवाल ने कहा कि ज्ञापन जिला कांग्रेस के मार्फत दिया जाना था, मंत्री काे अधिकारियाें से मीटिंग और प्रेसवार्ता करनी थी, जाे मैंने की।

धारीवाल ने कोटा में बैठक ली... उनके प्रभार वाले जयपुर में आज कटारिया लेंगे
कोटा में यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल की प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद भी डोटासरा से उनका विवाद अब भी थमता नहीं दिख रहा। फ्री वैक्सीन के मुद्दे पर प्रभारी मंत्रियों की बैठक को लेकर छिड़ा विवाद इसलिए गर्मा सकता है क्योंकि धारीवाल को जयपुर का प्रभारी मंत्री होने के नाते यहां इस मुद्दे पर बैठक लेनी थी, लेकिन उन्होंने अपने गृह जिले कोटा में ही बैठक ले ली। वहीं धारीवाल की जगह कोटा के प्रभारी मंत्री लालचंद कटारिया जयपुर में यानी अपने गृह जिले में रविवार को परिवहन मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास के साथ बैठक लेंगे। अपने स्तर पर ही प्रभारी मंत्रियाें की बैठक की व्यवस्था काे बदल डाली है।

डोटासरा अब बोले- कोई कहीं बैठक ले... फर्क नहीं पड़ता है
डोटासरा का कहना है कि संगठन का मकसद सिर्फ फ्री वैक्सीन को लेकर बैठक लेने का था। कोई कहां बैठक लेता है, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। कैबिनेट विवाद के दाैरान डोटासरा ने धारीवाल से कहा था कि आपने जयपुर के प्रभारी होने के नाते कभी एक भी मीटिंग नहीं ली।

  • अब धारीवाल का कहना है कि ऐसा करने के लिए कटारिया ने ही उन्हें फोन किया था। कटारिया के पास कोटा और अजमेर का प्रभार है। उन्होंने कहा था मेरी जगह वे जयपुर में बैठक कर लेंगे।
  • अशोक चांदना ने अपने गृह जिले में ही बैठक ली। डोटासरा सोमवार को बीकानेर, प्रमोद जैन भाया शनिवार को सिरोही पहुंच गए।
खबरें और भी हैं...