• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota
  • Did All The Household Chores, Did Not Give Food, The Girl Ran Away And Reached Kota, The Kunhadi Police Got The Shelter Done By Presenting Them In Front Of The CWC.kota Rajasthan

सौतेली मां करती थी मारपीट, घर छोड़ कोटा पहुंची:घर जाने से मना किया, बोलीं- बचा हुआ खाना देते हैं, कई  दिन भूखा भी रखा

कोटाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बालिका को शेल्टर होम भेजा गया है। - Dainik Bhaskar
बालिका को शेल्टर होम भेजा गया है।

बूंदी जिले की रहने वाली एक लड़की अपनी सौतेली मां की मारपीट से परेशान होकर कोटा आ गई। यहां पहुंचने के बाद वो सीधी नारी शाला पहुंची। यहां जानकारी ली तो उसे घर लौटने को कहा, लेकिन नहीं मानी। इसकी सूचना पुलिस को दी और इसके बाद उसे CWC के सामने पेश किया गया। यहां भी उसने घर जाने से मना किया तो काउंसिलिंग की गई। सामने आया कि वह अपनी सौतेली मां के व्यवहार से इतनी परेशान हो चुकी थी कि दोबारा घर नहीं लौैटना चाहती थी। समिति की ओर से उसे शैल्टर होम भेजा गया है।

बाल कल्याण समिति अध्यक्ष कनीज फातमा ने बताया कि बालिका 16 साल की है। सौतेली मां से परेशान होकर नारी शाला पहुंच गई थी। CWC काउंसिलिंग में बालिका ने बताया कि उसकी सौतेली मां मारपीट करती है। घर का सारा काम कराती है। ज घर के लोग खाना खा लेते थे तो उसे बचा हुआ खाना दिया जाता था। कई बार तो उसे भूखा भी रखा गया। उसे इतना परेशान किया गया कि वह अब घर भी नहीं जाना चाहती। लड़की ने बताया कि कई बार उसकी मां उसे कोटा में बुआ के पास भेज देती तो कभी बूंदी बुला लेती थी। उसने बताया कि व्यवहार से दुखी होकर घर नहीं जाना चाहती। वो पढ़ाई करना चाहती है और 18 साल की होने तक आश्रय गृह में रहना चाहती है। फातमा ने बताया कि अभी और काउंसलिंग की जरूकाउंसिलिंगरत है। बालिका को राजकीय बालिका गृह नांता में आश्रय दिया गया है।

पिता के बिरियानी का ठेला, बोलीं: वे भी उसी का पक्ष लेते हैं

समिति के अधिकारियों ने बताया कि लड़की की के पिता का बिरियानी का ठेला है। मां की मौत के बाद 9 साल पहले उसे पिता ने दूसरी शादी की थी। इसके बाद से उसकी सौतेली मां उसे परेशान करने लगी। दिन में कई बार उसकी पिटाई करती। उसकी सौतेली मां ने पिता को भी भड़का रखा था। इसलिए वे उसका भी पक्ष नहीं लेते थे। सौतेली मां के दो लड़के हैं।

खबरें और भी हैं...