पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota
  • Digital Maps Will Be Prepared By Google Mapping Of Villages, This Will Give Lease, End The Dispute Of Roads And Pasture Land

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कवायद:गांवों की भी गूगल मैपिंग कर डिजिटल नक्शे तैयार किए जाएंगे, इससे पट्टा मिलेगा, रास्तों और चारागाह भूमि का विवाद खत्म होगा

कोटाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • केंद्र सरकार की स्वामित्व याेजना के लिए राज्य सरकार ने दिए सभी जिला कलेक्टर को आदेश

शहराें की तर्ज पर अब गांवाें की भी गूगल मैपिंग कर डिजिटल नक्शे तैयार किए जाएंगे। इससे गांवाें में वर्षाें से चले आ रहे रास्ताें व चारागाह भूमि के विवाद ताे खत्म हाेंगे ही, साथ ही मकान मालिकाें काे पट्टे भी मिल जाएंगे। गांवाें के नक्शे तैयार हाेने से सबकुछ साफ हाे जाएगा कि यहां पर सरकारी जमीन कितनी है, रिहायशी जमीन कितनी है।

किस व्यक्ति के पास कितनी जमीन और मकान है। आम रास्ते व चारागाह जमीन काैन सी है। किस जमीन पर अतिक्रमण हाे रहा है, ये तमाम पिक्चर क्लियर हाे जाएगी। ये दस्तावेज सरकारी रिकार्ड बनेंगे और भविष्य में इसी के अनुसार गांवाें में कार्य हाेंगे।

केंद्र सरकार की स्वामित्व पट्टा याेजना के तहत राज्य सरकार ने कलेक्टर काे अपने क्षेत्र के राजस्व गांवाें के डिजिटल मेप तैयार करने के आदेश भेजे हैं। इसके लिए राजस्व विभाग व पंचायती राज विभाग द्वारा जिले के ऐसे गांवाें की सूची तैयार की जा रही है। इस याेजना काे राजस्व विभाग और पंचायत राज विभाग मिलकर पूरा करेगा।

ये दाेनाें विभाग डिजिटल नक्शे सर्वे ऑफ इंडिया की मदद से तैयार करेंगे। ड्राेन से फाेटाे और वीडियाेग्राफी की जाएगी, जिसमें गांव के एक-एक इंच जमीन का नापताैल हाे जाएगा। कितने मकान बने है, मकानाें की साइज क्या है, सड़काें की लंबाई-चाैड़ाई कितनी है। कच्ची-पक्की नालियां, पगडंडी कितनी है। कच्चे और खेताें के बीच से रास्ते कितने है।सर्वे हाे जाने के बाद राजस्व विभाग और पंचायत राज विभाग मालिकाना हक के सही गलत की जांच करेगा।

इसके लिए सार्वजनिक सूचना जारी कर अापत्तियां मांगी जाएगी। आपत्तियाें की जांच और सत्यापन के बाद नाम बदलने व संयुक्त मालिका हक के संशाेधन किए जाएंगे। मकानाें के नक्शे के आधार पर ही सरकार उनके मालिकाना हक के कागज तैयार कर पट्टे जारी करेगी। जिन जमीनाें व मकानाें पर ज्यादा विवाद हाेगा, उन मामलाें का समाधान कलेक्टर द्वारा किया जाएगा।

  • इस याेजना के तहत जिला परिषद और राजस्व दाेनाें विभागाें काे आदेश दे दिए गए है। दाेनाें मिलकर जल्दी ही काम शुरू करेंगे। इसके तहत गांवाें का लैंड रिकार्ड तैयार हाे जाएगा, जाे आज तक नहीं हाे पाया था। - उज्जवल राठाैड़ जिला कलेक्टर

जमीनों को नक्शा ड्रोन से तैयार किया जाएगा

  • सर्वे ऑफ इंडिया द्वारा राजस्व गांवाें की आबादी वाली जमीनाें का नक्शा ड्राेन से तैयार करेगा।
  • गांव की आबादी भूमि की बाहरी सीमा पर चूने की मार्किंग की जाएगी।
  • गांव के भीतर जाे खाली जमीन है, उसकी भी मार्किंग की जाएगी।
  • ड्राेन से ली गई इमेज मैप के आधार पर सर्वे सूचियाें काे ग्राम पंचायत द्वारा पंचायत भवन पर चस्पा की जाएगी।
  • एक सर्वे टीम बनाई जाएगी, जिसमें ग्राम सेवक, 2 वार्ड पंच, राेजगार सहायक आदि शामिल हाेंगे। ये टीम मकानाें का सर्वे कर फाॅर्म भरेगी, जिसमें उस मकान से संबंधित समस्त डिटेल हाेगी।
  • सर्वे रिपाेर्ट के आधार पर मकानाें की नंबरिंग की जाएगी।
खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थिति आपके लिए बेहतरीन परिस्थितियां बना रही है। व्यक्तिगत और पारिवारिक गतिविधियों के प्रति ज्यादा ध्यान केंद्रित रहेगा। बच्चों की शिक्षा और करियर से संबंधित महत्वपूर्ण कार्य भी आ...

    और पढ़ें