पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

काेटा उत्तर-दक्षिण नगर निगम:15 दिन बाद भी अधिकारियों और कर्मचारियों का ठीक से नहीं हो सका बंटवारा, बैठने तक की व्यवस्था नहीं

कोटा10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पूरा स्टाफ नहीं, कई अिधकारियों के पास दोनों निगमों की जिम्मेदारी

राज्य सरकार के आदेश पर 1 जुलाई से कोटा के दाेनाें नगर निगमों की सारी व्यवस्थाएं अलग तो कर दी, लेकिन 15 दिन बाद भी अभी तक कर्मचारियाें व अधिकारियाें का बंटवारा ठीक से नहीं हाे पाया है। माैजूदा भवन काे ही दाे भागाें में बांटा जाएगा ये भी पिछले साल ही तय हाे गया था, लेकिन अभी तक भवन का बंटवारा केवल हिस्से के रूप में ही हाे सका, वहां काम करने लायक व्यवस्था अभी तक नहीं हाे पाई। कई विभागाें में अधिकारियाें के पद खाली पड़े हुए हैं ताे कई अधिकारियाें काे यह पता नहीं है कि उन्हें बैठना कहा हैं। दक्षिण निगम के अधिकारी भी उत्तर में बैठकर टाइम निकाल रहे हैं। माैजूदा सेटअप ताे काेटा उत्तर निगम काे मिल गया, लेकिन दक्षिण निगम अधिकारी-कर्मचारी से लेकर बैठने की व्यवस्था तक काे तरस रहा है। दक्षिण के आयुक्त और महापाैर के चैंबर का काम मंगलवार काे शुरू किया।
भवन में व्यवस्था नहीं : माैजूदा भवन में ही दाेनाें निगम चलेंगे यह तय हाेने के बाद निगम ने तीनाें ब्लाॅक काे मिलाकर दाे भागाें में बांटने के लिए पूरा नक्शा और एस्टीमेट बनाया। दाेनाें भवनाें में अलग-अलग व्यवस्था करने पर करीब 2 कराेड़ रुपए का खर्च का एस्टीमेट अाया। इस काम काे शुरू करने में इतनी देर कर दी कि वाे आज तक पूरा नहीं हाे पाया। बीच में लाॅकडाउन में खराब हाे गए। अब भवन में पार्टीशन करने, नए महापाैर, उपमहापाैर, आयुक्त, उपायुक्त के लिए चैंबर तैयार किए जा रहे हैं।

भास्कर आपको बता रहा है दोनों नगर निगमों में क्या-क्या अव्यवस्थाएं हैं

इंजीनियरिंग विंग : एईएन-जेईएन के कई पद खाली: इंजीनियरिंग विंग काे दाे भागाें में बांटा गया, लेकिन केवल एक पद एसई के अलावा अन्य पदाें का बंटवारा ठीक प्रकार से नहीं किया गया। काेटा उत्तर में 2 सिविल एक्सईएन हैं ताे दक्षिण में केवल 1 है। दाेनाें निगम में मैकेनिकल, इलेकट्रिकल इंजीनियर के 8 पद खाली पड़े हैं। एईएन के 3 पद खाली पड़े हैं। दक्षिण निगम में एईएन लगा ताे दिए, लेकिन उनके बैठने तक के लिए जगह तय नहीं है। वे उत्तर निगम की बिल्डिंग में इधर-उधर बैठकर या फील्ड में रहकर ही समय निकाल रहे हैं।

राजस्व विभाग : 20 पद अभी भी खाली : नगर निगम काे चलाने के लिए राजस्व विभाग सबसे जरूरी विभाग है। वाे आय अर्जित करेगा तभी ताे खर्च कर पाएंगे, लेकिन राजस्व अनुभाग में उत्तर व दक्षिण में केवल 10 अधिकारी-कर्मचारी है। राजस्व अधिकारी के 6 पद में केवल 2 भरे हुए हैं। दाेनाें निगम में 1-1 राजस्व अधिकारी लगाया है। इसके अलावा 1 राजस्व इंस्पेक्टर दाे दिन पहले ही निगम काे मिला है। राजस्व इंस्पेक्टर, कर निर्धारक, सहायक इंस्पेक्टर आदि के करीब 20 पद खाली पड़े हुए हैं।

सफाई : स्वास्थ्य अधिकारी नहीं, माॅनिटरिंग कैसे हाेगी

सफाई व्यवस्था की माॅनिटरिंग से लेकर कर्मचारियाें पर कंट्राेल का जिम्मा हैल्थ ऑफिसर का हाेता है। दाेनाें निगम में हैल्थ ऑफिसर के 2-2 पद है, लेकिन एक भी हैल्थ ऑफिसर नहीं है। उनके स्थान पर एईएन पर्यावरण एवं कचरा प्रबंधन सतीश मीणा व ऋचा गाैतम काे जिम्मेदारी दे रखी है। एक-एक पद फिर भी खाली पड़ा हुआ है।

फायर विभाग: बिना सीएफओ चल रहा है, चार पद खाली

फायर विभाग में एएफओ से लेकर सीएफओ तक के सभी 4 पद खाली पड़े हुए हैं। तीन फायर स्टेशन और पूरे अग्निशमन बेड़े का इंचार्ज सिविल के एईएन संजय विजय काे बना रखा है। दाेनों नगर निगम के सीएफओ का चार्ज फिलहाल उन्हें दे रखा है। ऐसे में टेक्निकल मामलाें में हमेशा परेशानी उठानी पड़ रही है।

अकाउंट्स : दाेनाें निगमों में 1 अधिकारी, 5 पद खाली 

अकाउंट्स जैसे महत्वपूर्ण विभाग की हालत ये हैं कि दाेनाें निगम में मुख्य लेखाधिकारी और लेखाधिकारी नहीं है। इनके चाराें पद खाली पड़े हैं। केवल एक सहायक लेखाधिकारी संजय जैन हैं। जाे दाेनाें नगर निगम के पांचाें पदाें का काम संभाल रहे हैं। ऐसे में काम किस गति से हाेगा, ये समझा जा सकता है।

दक्षिण महापौर कक्ष : पार्षदाें के वेटिंग हाॅल में ही बनेगा

काेटा दक्षिण के महापाैर के लिए बी ब्लाॅक में पार्षदाें के लिए बने वेटिंग हाॅल काे चैंबर बनाया जाएगा। काेटा उत्तर के लिए वर्तमान में जाे गेट है, वाे ही रहेगा और उसके ठीक सामने से महापाैर कक्ष के लिए रास्ता हाेगा। इसी तरह दक्षिण के आयुक्त के लिए हेल्प लाइन के ऊपर पहली मंजिल पर स्थित रूम काे तैयार किया जा रहा है।

डीटीपी व्यास का ट्रांसफर निरस्त, कोटा उत्तर और दक्षिण की जिम्मेदारी सौंपी

स्वायत्त शासन विभाग ने 26 सितंबर 2019 काे डीटीपी अमित व्यास का ट्रांसफर काेटा जाेन सीनियर टाउन प्लानर ऑफिस में कर दिया था, लेकिन उनके स्थान पर किसी काे नहीं लगाने के कारण नगर निगम ने उन्हें रिलीव नहीं किया था। मंगलवार काे स्वायत्त शासन विभाग के संयुक्त शासन सचिव त्रिभुवनपति ने एक आदेश जारी कर डीटीपी व्यास का ट्रांसफर निरस्त कर उन्हें काेटा उत्तर व दक्षिण नगर निगम में पाेस्टिंग कर दी।

दाेनाें नगर निगम के बंटवारे और काम काे लेकर जाे भी मामले आ रहे हैं, उन्हें दूर करने के लिए मंगलवार काे भी इस संबंध में बैठक ली गई। दाेनाें निगम के अधिकारियाें के साथ बैठकर चर्चा की गर्ई। धीरे-धीरे व्यवस्था ठीक जा रही है। राज्य सरकार भी एक-एक करके पद भर रही है। कुछ ही दिनों में व्यवस्थाएं पूरी तरह से पटरी पर आ जाएंगी। -वासुदेव मालावत, आयुक्त दक्षिण नगर निगम

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आध्यात्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत होगा। जिससे आपकी विचार शैली में नयापन आएगा। दूसरों की मदद करने से आत्मिक खुशी महसूस होगी। तथा व्यक्तिगत कार्य भी शांतिपूर्ण तरीके से सुलझते जाएंगे। नेगेट...

    और पढ़ें