पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

हादसा:घर में लगी आग, फोन के बावजूद नहीं आई दमकल, 5 लाख का सामान खाक

कोटा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बोरखेड़ा थाना क्षेत्र स्थित नम्रता आवास कॉलोनी में रविवार सुबह एक मकान में अचानक भीषण आग लग गई। देखते ही देखते आग ने पूरे मकान को चपेट में ले लिया। आग लगने के बाद मकान मालिक और पड़ोसी सभी अग्निशमन विभाग को फोन करते रहे, लेकिन अग्निशमन विभाग के किसी भी कर्मचारी ने उनकी सुध नहीं ली। आधा घंटा बीत गया, लेकिन न कोई दमकल मौके पर पहुंची न अग्निशमन विभाग का काेई कर्मचारी।

जिसके बाद मकान मालिक और पड़ोसियों ने बाल्टी और पाइप से पानी डालकर जैसे-तैसे आग पर काबू पाया। इस हादसे में लगभग 5 लाख का सामान जल गया। इस मामले में जब अग्निशमन विभाग के अधिकारियों से बात की गई तो उन्होंने कहा कि मौके पर दमकल पहुंच नहीं सकी क्योंकि रास्ता संकरा था। लेकिन मौके पर अग्निशमन विभाग के किसी कर्मचारी का नहीं जाना अपने आप में बहुत बड़ी लापरवाही है। बोरखेड़ा थाना क्षेत्र के नम्रता आवास कॉलोनी में रिटायर्ड सीआईडी अधिकारी भूदेव शर्मा का मकान है। मकान दो मंजिला है। ग्राउंड फ्लोर पर भूदेव शर्मा का परिवार रहता है, ऊपर वाले मारे में शर्मा ने एक स्टोर से बना रखा है। जिसमें घरेलू सामान, फर्नीचर, साउंड सिस्टम व अन्य सामान रखे हुए थे। सुबह करीब 7:30 बजे अचानक से उस कमरे में आग लगना शुरू हुई और देखते ही देखते विकराल रूप धारण कर लिया।

तंग गलियों का बहाना बनाकर बचते रहे अधिकारी

अग्निशमन विभाग के अधिकारियों का कहना है कि वहां दमकल इसलिए नहीं पहुंची क्योंकि जिस जगह आग लगी वहां तंग गलियां थी। भास्कर ने जब अधिकारियों के इस जवाब की पड़ताल की तो सारी पोल खुलकर सामने आ गई। भास्कर टीम ने मौके पर मौजूद लोगों से बात की और फाेटो, वीडियो मंगवाई।

जिससे साफ है कि वहां पर फायर ब्रिगेड ही नहीं पूरा का पूरा ट्रक भी आराम से आ जा सकता है। यह बात वहां पर रहने वाले लोगों ने और पुलिस ने भी स्वीकार की है। नगर निगम के अधिकारी साफ तौर पर झूठ बोल रहे हैं और अपने कर्मचारियों को बचाने का प्रयास कर रहे हैं जबकि यह बहुत बड़ी घोर लापरवाही है।

इस लापरवाही के तीन बड़े कारण

महत्वपूर्ण 6 पद खाली
नगर-निगम में पिछले 1 साल से चीफ फायर ऑफिसर, फायर ऑफिसर और असिस्टेंट फायर ऑफिसर जैसे महत्वपूर्ण पद खाली पड़े हुए हैं। पूरा का पूरा अग्निशमन विभाग सिर्फ एक लीड फायरमैन के भरोसे चल रहा है।

मॉनिटरिंग नहीं होना
महत्वपूर्ण पदों के खाली होने से अग्निशमन विभाग में मॉनिटरिंग का अभाव हो गया है। अग्निशमन विभाग में नए भर्ती होने वाले फायरमैन और दूसरे कर्मचारियों पर ऊपरी अधिकारियों का होल्ड एक तरह से खत्म सा हो चुका है।

संसाधनों की कमी
नगर निगम के अग्निशमन विभाग के पास कई सालों से संसाधनों की कमी चल रही है, लेकिन जब कोई अधिकारी ही नहीं है तो बात रखने वाला भी कोई नहीं है। विभाग के पास वर्तमान में 18 दमकले हैं व दो छोटी दमकले हैं।

कई कॉल किए, नहीं पहुंची दमकल
पड़ोसियों एवं प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि जब मकान में आग लगी तो तत्काल ही लोगों ने अग्निशमन विभाग को फोन करके इसकी सूचना दी थी अग्निशमन विभाग के अलावा लोगों ने पुलिस कंट्रोल रूम पर भी फोन करके इसकी सूचना दी थी। लोगों ने कई फोन किए लेकिन अग्निशमन विभाग की कोई दमकल मौके पर नहीं पहुंची।

बाल्टियों, पाइप से बुझाई आग
अग्निशमन विभाग की गाड़ियां मौके पर नहीं पहुंची तो लोगों ने आग बुझाने के लिए अपने बाल्टियाें और पाइप से पानी डालना शुरू किया। आग तेज लगी हुई थी इसलिए काफी देर लग गई और उसके बाद आग को बुझाया जा सका। मकान मालिक भूदेव शर्मा का कहना है कि आग लगने का कारण सिर्फ शाॅर्ट सर्किट ही समझ में आ रहा है ।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज उन्नति से संबंधित शुभ समाचार की प्राप्ति होगी। धार्मिक और आध्यात्मिक कार्यों में भी कुछ समय व्यतीत होगा। किसी विशेष समाज सुधारक का सानिध्य आपके अंदर सकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न करेगा। बच्चे त...

और पढ़ें