• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota
  • Forest Workers Committed Indecency, Scuffles, Villagers Reached The Police Station With The Deputy Mayor, The Police Explained In The Police Station

लकड़ियां बीनने गई महिलाओं का वनकर्मी पर मारपीट का आरोप:उप महापौर के साथ थाने पर पहुंचे ग्रामीण, पुलिस ने थाने में की समझाइश

कोटा5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
थाने में मौजूद ग्रामीण - Dainik Bhaskar
थाने में मौजूद ग्रामीण

आर के पुरम थाना इलाके के जंगल में लकड़ियां बीनने गई भील समुदाय की महिलाओं ने आरोप लगाया कि वनकर्मी और होमगार्ड के जवान ने उनके साथ अभद्र व्यवहार किया। महिलाओं का आरोप है कि उनके साथ धक्का-मुक्की कर कपड़े फाड़ दिए। हालांकि वन कर्मियों ने आरोपों का खंडन करते हुए कहा कि महिलाओं की कुल्हाड़ी को जब्त की थी। इस बात को लेकर वह गलत आरोप लगा रही हैं। दोनों ही पक्ष थाने में बुलाए गए और पुलिस ने समझाइश की।

उपमहापौर कोटा दक्षिण पवन मीणा ने बताया कि रथकांकरा गांव की भील समुदाय की महिलाएं जंगल से सूखी लकड़ी बीन कर लाती है। उससे ही चूल्हा जलाती है। सोमवार को भी कुछ महिलाएं लकड़ियां बीनने गई थी, इस दौरान वहां गश्त करते हुए महिला वनकर्मी और एक होमगार्ड पहुंचा। महिलाओं ने बताया कि उन्होंने उनके साथ धक्का-मुक्की की और कपड़े फाड़ दिए। इस पर सभी ग्रामीण इकट्ठा होकर आरके पुरम थाने पहुंचे। थाना अधिकारी रमेश कुमार ने दोनों वन कर्मियों को थाने पर बुलाया। दोनों ही पक्षों के बयान लिए। जिसके बाद समझाइए की गई।

कुल्हाड़ी जब्त की तो लगाया आरोप

इधर वनरक्षक सुनीता और होमगार्ड जवान अशोक ने बताया कि वह गश्त करते हुए जंगल में गए थे। इस दौरान महिलाएं लकड़िया लेकर जा रही थी। उनके हाथ में कुल्हाड़ी थी। सुनीता ने उनकी कुल्हाड़ी लेने की कोशिश की तो महिलाओं ने दोनों हाथ पकड़ लिया। गाली गलौज करने लगी। इसके बाद उन्होंने कहा कि वह मारपीट और कपड़े फाड़ने का आरोप लगाकर थाने में मुकदमा दर्ज करवा देगी। वन कर्मियों ने उनकी कुल्हाड़ी जब्त कर ली। वन कर्मियों का कहना है कि जंगल में कुल्हाड़ी लेकर नहीं जा सकते। यह लोग केवल सूखी लकड़ियां बीन कर ला सकते हैं। फिलहाल पुलिस ने बयान लिए हैं और दोनों पक्षों को पाबंद किया है।

खबरें और भी हैं...