सुंदर लड़की की फोटो दिखाकर धोखाधड़ी:शादी का झांसा देकर मर्दों से ऐंठते थे पैसे, 2 से 21 हजार तक था रेट

कोटाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शादी का झांसा देकर ठगी करने वाले लड़कियों और लड़कों के गिरोह का पर्दाफाश हुआ है। राजस्थान में कोटा की नयापुरा थाना पुलिस ने फर्जी मैरिज ब्यूरो संचालित करने वाले गिरोह के सदस्यों को दबोच लिया है। गिरोह के मेंबर शादी का झांसा देकर लोगों से ठगी करते थे।

पिछले साल भर से कोटा में इन्होंने ठगी का नेटवर्क संचालित कर रखा था। बताया जा रहा है कि कोटा में एक दिसंबर को एक और ब्रांच का उद्घाटन होना था। उससे पहले ही ठगी के आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़ गए। पुलिस ने 5 लड़कियों और 3 लड़कों को पकड़ा है। इनके पास से 1 लैपटॉप,18 मोबाइल और रजिस्टर जब्त किया है। आरोपी अब तक लाखों रुपए की ठगी कर चुके है। पुलिस इनके खातों की डिटेल खंगाल रही है।

मैरिज ब्यूरो के जरिए ठगी का नेटवर्क चल रहा था

एडिशनल एसपी भगवत सिंह हिंगड़ ने बताया कि ठगी का नेटवर्क चलाने के लिए मास्टरमाइंड ने मैरिज ब्यूरो खोल रखा था। इसमें बकायदा कॉल सेंटर संचालित होता है। लड़कियां फर्जी फेसबुक आईडी से लोगों को फंसाती थीं। सभी आरोपी कीपैड मोबाइल यूज करते थे। गिरोह फर्जी आईडी से खरीदी गई सिम का इस्तेमाल करता था।

ये जालसाज रजिस्ट्रेशन के नाम पर इच्छुक लड़के-लड़कियों से अपने अकाउंट में 2 से 21 हजार रुपए जमा करा लेते थे।
ये जालसाज रजिस्ट्रेशन के नाम पर इच्छुक लड़के-लड़कियों से अपने अकाउंट में 2 से 21 हजार रुपए जमा करा लेते थे।

शादी के इच्छुक लड़के और लड़कियों को फंसाते थे

कॉल सेंटर पर काम करने वाली महिलाएं फेसबुक आईडी पर शादी के इच्छुक लड़के और लड़कियों को कॉल करतीं। वॉट्सऐप पर इनका बायोडाटा मंगवातीं। फिर उस बायोडाटा से मिलता हुआ फर्जी बायोडाटा तैयार कर, उसी को वापस भेज देतीं। बायोडेटा में किसी का भी सुंदर फोटो एडिट करके भेज दिया जाता। बायोडेटा देखकर सामने वाली पार्टी झांसे में आ जाती। फिर ये जालसाज रजिस्ट्रेशन के नाम पर इच्छुक लड़के-लड़कियों से अपने अकाउंट में 2 से 21 हजार रुपए जमा करा लेते थे। उसके बाद में फोन उठाना बंद कर देते। पूछताछ में पता चला कि लोगों से ठगे गए रुपए 7 ब्रांचों में जाता था। आरोपियों के पास मिले रजिस्टर में विदेशी लोगों के नंबर भी मिले है।

मास्टरमाइंड सहित ये आए पकड़ में

गिरफ्तार गिरोह का मास्टरमाइंड प्रणय कुमार शर्मा (23) बलदेव सहाय पथ,थाना कदमकुआ तहसील, जिला पटना, बिहार का रहने वाला है। वहीं राकेश कुमार (24) सकर लोहार थाना बहेड़ी, जिला दरभंगा बिहार का निवासी है। दोनों आरोपी वर्तमान में कोटा के जवाहरनगर थाना क्षेत्र के तलवंडी इलाके में रहते है। पुलिस ने पुरुषोत्तम (22) बरखेड़ा कला, थाना बकानी, जिला झालावाड़, नेहा शर्मा (23) सिविल लाइन दोस्तपुरा,इप्तिसम (23) मेन मार्केट छावनी, अलका शर्मा (30) निवासी मंडाना, सिमरन (19) आफताब मदरसे के सामने कर्बला,थाना कोतवाली व पूजा वशिष्ठ (29) महावीर नगर विस्तार योजना के रहने वाले हैं।

खबरें और भी हैं...