रणवीर चौधरी हत्याकांड:पुलिस जाब्ते की कमी के कारण गैंगस्टर शिवराज सिंह को नहीं लाया जा सका कोर्ट, 14 सितंबर को होगी अगली सुनवाई

कोटाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो- गैंगस्टर शिवराज सिंह। - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो- गैंगस्टर शिवराज सिंह।

शहर के बहुचर्चित रणवीर चौधरी हत्याकांड मामले में आज सुनवाई थी। लेकिन पुलिस जाब्ते की कमी के कारण गैंगस्टर शिवराज सिंह को भरतपुर जेल से कोटा में एसीजेएम नंबर -6 न्यायालय में नहीं लाया जा सका। न्यायालय ने अब अगली 14 सितंबर की पेशी तय की है। पुलिस न्यायालय में आरोपी के वॉइस सेंपल लेने के लिए डिमांड कर सकती है।

पुलिस ने वारदात में शामिल आरोपी शराफत अली, पीर मोहम्मद, विक्रम सिंह, मोहम्मद अनीस उर्फ टिंकु खान, मोहम्मद मंसूर, रशीद अहमद के खिलाफ चालान न्यायालय में पेश किया था। फिर मामले में पुलिस ने भरतपुर जेल से प्रोडक्शन वारंट पर गैंगस्टर शिवराज सिंह को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया था । जहां से उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था।

ये था मामला

आरकेपुरम थाना क्षेत्र के श्रीनाथपुरम स्टेडियम के मेन गेट पर 22 दिसम्बर 2019 को हमलावरों ने हिस्ट्रीशीटर रणवीर चौधरी पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसा मौत के घाट उतार दिया था। हिस्ट्रीशीटर रणवीर चौधरी पर शूटरों ने इतनी गोलियां बरसाई की उसके सिर के परखच्चे उड़ गए। रणवीर को 15 गोलियां मारी थी। उसकी मौके पर ही मौत हो गई थी। पुलिस ने मृतक रणवीर चौधरी की पत्नी सुधा चौधरी की रिपोर्ट पर मुकदमा दर्ज किया था।

खबरें और भी हैं...