• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota
  • Governor Mishra Said Adopt Innovation Keeping In Mind The Needs Of The Future, Make Universities The Centers Of Excellence

राज्यपाल की चार यूनिवर्सिटी के वीसी से मीटिंग:राज्यपाल मिश्र ने कहा- भविष्य की आवश्यकताओं को ध्यान में रखकर नवाचार अपनाएं, विश्वविद्यालयों को ज्ञान के उत्कृष्ट केन्द्र बनाएं

कोटा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मीटिंग के दौरान चर्चा करते राज्यपाल। - Dainik Bhaskar
मीटिंग के दौरान चर्चा करते राज्यपाल।

राज्यपाल कलराज मिश्र ने विश्वविद्यालयों को नई शिक्षा नीति को ध्यान में रखते हुए विद्यार्थियों के हित में समयानुरूप पाठ्यक्रम विकसित करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने तकनीकी पाठ्यक्रमों में कौशल प्रशिक्षण पर विशेष ध्यान देने और मुक्त विश्वविद्यालयों के पाठ्यक्रमों को निरंतर अपडेट करने का आह्ववान किया। उन्होंने कहा कि गुणवत्ता के साथ रोजगारोन्मुखी शिक्षा के लिए सभी विश्वविद्यालयों के स्तर पर निरंतर प्रयास किए जाने चाहिए।

उन्होंने कहा कि यूनिवर्सिटी में रिक्त पदों पर नियुक्तियों एवं पदोन्नति के सबंध में समयबद्ध कार्यवाही करवाने का प्रयास किया जाएगा। राज्यपाल ने कहा कि भविष्य की आवश्यकताओं और चुनौतियों को ध्यान में रखते हुए विश्वविद्यालयों को ज्ञान के उत्कृष्ट केन्द्र के रूप में विकसित करने के प्रयास करें। तकनीकी और विज्ञान विषय के पाठ्यक्रमों को अंग्रेजी के साथ हिंदी और क्षेत्रीय भाषाओं में भी तैयार किए जाने पर बल दिया।

स्टूडेंट्स में हैप्पीनेस इंडेक्स बढ़ाएं, ताकि एनर्जी आए

राज्यपाल कलराज मिश्र गुरुवार को एक दिवसीय दौरे पर कोटा पहुंचे। दोपहर 1 बजे कोटा यूनिवर्सिटी पहुंचे। यहां करीब 4.30 बजे तक कैंपस में रहे। यहां पहली बार राज्यपाल ने कोटा यूनिवर्सिटी, आरटीयू कोटा, वर्धमान महावीर ओपन यूनिवर्सिटी और एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी के कार्यां की पाॅवर प्वाइंट के माध्यम से काेविड-19 काल में किए कार्य से लेकर शैक्षणिक, कैंपस सहित अन्य विषयाें के बारे में विस्तार जानकारियां ली।

उन्होंने यूनिवर्सिटीज के पाेर्टल में आए ग्रीवेंस के मामले को बड़ी गंभीरता से लिया। उन्होंने यूनिवर्सिटीज काे राेजगार बढ़ाने के लिए पूरा जाेर दिया। उन्होंने फूड प्रोसेसिंग से लेकर छोटे-छोटे फूड प्राेसेसिंग एवं स्किल डेवलपमेंट संबंधित सुझाव दिए। राज्यपाल ने काेविड-19 के बाद स्टूडेंट्स में हैप्पीनेस इंडेक्स बढ़ाने की बात कही। ताकि स्टूडेंट में एनर्जी और खुशहाली आए। कोटा यूनिवर्सिटी के पावर पॉइंट प्रजेंटेशन को भी सराहा। एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी के प्रोग्रेस की धीमी गति को लेकर उन्होंने तेजी से कार्य करने की बात कही।

एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी के वीसी को किसान मेले आयोजन सहित अन्य सुझाव दिए। उन्हाेंने रिजल्ट, कोर्सेज, स्टूडेंट के नामांकन सहित अन्य विषयों पर चर्चा की। राज्यपाल ने यूनिवर्सिटी प्रशासन से संविधान पार्क के कार्य में तेजी लाने की बात कही। नैक और यूनिवर्सिटी की एनआईआरएफ रैकिंग में प्रयास से लेकर यूनिवर्सिटी में रिक्रूटमेंट को प्राथमिकता देने सहित अन्य कार्य को बेहतर बनाने के लिए प्रयास करने की बात कही। इस दाैरान राज्यपाल के विशेषाधिकारी गोविन्द राम जायसवाल, वीसी प्राे. नीलिमा सिंह, आरटीयू कोटा के प्राे. आरए गुप्ता, वीएमओयू के वीसी प्राे. आरएल गोदारा आदि मौजूद रहे।

राज्यपाल ने श्रीकुलम मंदिर में किया पूजन, स्वर्ण ध्वजा भी फहराई

राज्यपाल कलराज मिश्र ने गुरुवार को स्टेशन स्थित श्रीकुलम मंदिर में दुर्गा माता का पूजन और कन्या पूजन किया। मंदिर में स्वर्ण ध्वजाराेहण किया। एक घंटे रुकने के बाद वे काेटा विश्वविद्यालय रवाना हुगए। सुबह 11 बजे राज्यपाल विशेष विमान से काेटा पहुंचे। यहां आईजी रविदत्त गाैड़, संभागीय आयुक्त केसी मीणा, कलेक्टर उज्जवल राठाैड़, एसपी सिटी विकास पाठक ने उनका स्वागत किया। पुलिस ने गार्ड ऑफ ऑनर दिया।

इसके बाद 11.30 बजे श्रीकुलम मंदिर स्टेशन पहुंचे। यहां उनका नीतिअंबा माता व मंदिर समिति की ओर से सम्मान किया। करीब एक घंटे के बाद वे बाहर आए और वहां मंदिर का लाेकार्पण किया। मेनगेट पर ध्वजाराेहण भी किया। उनके साथ मंदिर की पीठाधीश्वर नीतिअंबा माताजी माैजूद रहीं। उन्हाेंने पत्रकाराें से कहा कि वे यहां पूजन करने आए हैं। राज्यपाल के दाैरे काे देखते हुए प्रशासन ने पूरी सख्ती बरती।

मंदिर की सड़क पर रहने वालाें के वाहन तक हटा दिए। किसी भी व्यक्ति काे सड़क पर घूमने नहीं दिया। एयरपाेर्ट से लेकर मंदिर तक सड़काें पर लगने वाली राेजमर्रा की दुकानें नहीं लगने दिया। वहीं पूरे मार्ग पर पुलिस जवान अलग-अलग जगहाें पर तैनात थे। उनके आने से पहले कई जगहाें पर सफाई भी हाेती रही। पूरे मार्ग पर सफाई व्यवस्था दुरुस्त दिखी।

खबरें और भी हैं...