पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

इबादत:रमजान के आखिरी जुमे पर हुई अलविदा की सदाएं सुनकर रोजेदारों की आंखें छलक पड़ी, शबेकद्र कल

कोटाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • मस्जिद व घरों में नमाज अदा कर कोरोना के खात्मे की दुआएं की

मुस्लिम समाज ने माहे रमजान के आखिरी जुमे पर अलविदा मनाई। रमजान के आखिरी जुमे पर मस्जिदाें व घराें पर नमाज अदा की गई। नमाज में काेराेना खात्मे की दुआएं की गई। माहे रमजान की अलविदा की सदाएं सुनकर राेजदाराें की आंखें छलक पड़ी। वहीं शबेकद्र इतवार को मनाई जाएगी। नेकियों का दिन इबादत की रात रहेगी। शबेकद्र घर में दुआएं और रोजा इफ्तार भी इफ्तारी तबर्रुख भी तकसीम किया जाएगा। मस्जिदों में नमाज व तरावी की नमाज अदा कराने वाले इमामों का भी इस्तकबाल किया जाएगा।

पूर्व पार्षद उमर सीआईडी ने बताया कि जुमे के दिन सेहरी से ही समाज के लोगों, रोजेदारों में अलविदा की चहल-पहल नजर आई। मस्जिदों में जुमे की नमाज से पहले ही माहे रमजान अलविदा की सदाएं सुनाई देने लगी। सदाएं सुनकर मोहल्लाें में रोजेदारों की आंखे छलक पड़ी। इस दाैरान सभी ने काेराेना खात्मे के लिए खुदा से दुआएं की। इमामों ने कुतबा पढ़ा और दुआएं की। मस्जिदों चुनिन्दा नमाजियों ने कोरोना गाइडलाइन की पालना करते हुए अलविदा जुमे की नमाज अदा की।

टिपटा मस्जिद में हाफिज फारूख अहमद अंसारी ने नमाज अदा कराई व माैलाना अब्दुल सलीम अंसारी मागरोली ने दुआएं की। टिपटा मस्जिद काजी पाड़ा में नायब शहरकाजी जुबैर अहमद ने नमाज अदा कराई। साथ ही काजीशहर अनवार अहमद ने भी दुआएं की। डीसीएम वाॅम्बे योजना मदरसा फैजाने अख्तर के सदर इमामुद्दीन अंसारी ने बताया कि यहां जुमे की नमाज हाफिज सरफराज अहमद रिजवी ने अदा कराई। बजाजखाना अंसारी समाज मोमिनो की बड़ी मस्जिद व छोटी मस्जिद में भी हाफिजों ने नमाज अदा कराई। घंटाघर ऊपरली मस्जिद में माैलाना अनिसुर्हमान हकीमी ने नमाज अदा करवाई और दुआएं भी की। बाद नमाजे जुमा अकीदतमन्दों सलातो सलाम भी पढ़ी।

खबरें और भी हैं...