पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

संकट में आईएल के मोर:दूसरे दिन भी किया शिकार, वन मंडल नहीं लगा पा रहा है अंकुश

काेटाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शहर के आबादी वाले आईएल राजीव गांधी स्पेशल काॅलाेनी में दूसरे दिन फिर माेर का शिकार हाे गया। यहां सुबह घूमने आए लाेगाें ने माेर के अवशेष नजर आए। मौके पर लाेगाें की भी भीड़ जमा हाे गई। साथ ही यहां माेराें काे रेगुलर दाना डालने वाले लाेगाें ने रोज नजर आने वाले दाे माेर नजर नहीं आए ताे चिंताा जताई। पूर्व पार्षद सुरेश गुर्जर ने बताया कि दूसरे दिन भी यहां माेर का शिकार हुआ है।

वहीं, दूसरी और सूचना मिलने पर वन मंडल की टीम माैके पर पहुंची। यहां स्थिति का जायजा लिया। लाेगाें ने यहां खानाबदाेश लाेगाें पर आशंका जताई। इसके बाद वन विभाग की टीम ने खानाबदोश लोगों यहां दबिश दी, लेकिन किसी भी तरह का सबूत नहीं मिला। वहीं, दूसरी ओर इस काॅलाेनी के आसपास एरिया में सीसीटीवी काे भी खंगाला, लेकिन कुछ पता नहीं चल पाया।

माेर के शिकार के मामले में माैके पर पहुंचे और आसपास दबिश दी है। लेकिन, सबूत नहीं मिला है। पुलिस के सीसीटीवी कैमराें की मदद ली जाएगी। शिकार के मामले की पड़ताल शुरू कर दी है। -नवनीत शर्मा, कार्यवाहक रेंजर वन मंडल

विभाग गंभीर नहीं, कार्रवाई के नाम पर कर रहा खानापूर्ति
मोरों के शिकार को लेकर वन मंडल विभाग गंभीर नहीं है। दो दिन से लगातार मोरों का शिकार हो रहा है, लेकिन विभाग कार्रवाई के नाम पर खानापूर्ति कर रहा है। दो दिन में शिकारियों को पकड़ना तो दूर, सुराग तक नहीं लगा पाया है। अगर इसी तरह रोज मोरों का शिकार हुआ तो इस कॉलोनी से मोर खत्म हो जाएंगे।

खबरें और भी हैं...