• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota
  • In The First Wave, 117 Days, In The Second 24 And In The Third, The Number Of Patients Crossed 100 In Just 12 Days.

लहर का कहर:पहली लहर में 117 दिन, दूसरी में 24 अाैर तीसरी में मात्र 12 दिन में 100 पार हाे गया मरीजाें का अांकड़ा

कोटा14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
माह के अंत तक रोज दो हजार रोगी आने की संभावना। - Dainik Bhaskar
माह के अंत तक रोज दो हजार रोगी आने की संभावना।
  • ...

काेविड के नया वैरिएंट इतनी तेजी से फैल रहा है कि पिछली दाेनाें लहराें काे पीछे छाेड़ दिया है। काेटा में शुक्रवार काे 100 नए केस रिपाेर्ट हुए, इसी के साथ एक्टिव मरीजाें की संख्या 308 पहुंच गई है। भास्कर ने पिछली दाेनाें लहराें के आंकड़े खंगाले ताे सामने आया कि पहली लहर में 117 दिन, दूसरी लहर में 24 दिन में आंकड़ा 100 तक पहुंचा था, लेकिन अब तीसरी लहर में मात्र 12 दिन में नए मरीजों की संख्या 100 पहुंच गई।

विशेषज्ञों का मानना है कि इसी रफ्तार से विस्तार होता रहा तो कोटा में इसी माह के अंत तक रोजाना आने वाले मरीजों का आंकड़ा 1500 से 2000 तक पहुंच सकता है। इस बार संक्रमण ज्यादा इसलिए भी है, क्योंकि एसिम्प्टोमेटिक रोगी बेरोकटोक घूम रहे हैं ज्यादातर मरीज एसिम्प्टोमेटिक इसलिए भी है, क्योंकि वे वैक्सीन ले चुके या फिर वे पहले से संक्रमित हो चुके, इसलिए उनमें एंटीबॉडी मौजूद है।

  • पहली लहर - कोटा में पहला मरीज 5 अप्रैल, 2020 को आया। इसके बाद आंकड़ा 100 तक पहुंचने में 117 दिन लगे थे। 30 जुलाई को पहली बार 100 पार हुए थे। इस दिन 108 केस रिपोर्ट हुए थे।
  • दूसरी लहर - 2021 में मार्च के पहले दिन 14 केस रिपोर्ट हुए थे। 24 दिन बाद 24 मार्च को आंकड़ा 113 पहुंच गया था। जनवरी-फरवरी में भी केस मिल रहे थे, पर बीच में कुछ दिन आंकड़ा 0 था।
  • तीसरी लहर - इस बार 27 दिसंबर 2021 को पहला केस रिपोर्ट हुआ और 7 जनवरी को आंकड़ा 100 पहुंच गया। यानी महज 12 दिन में ही स्थिति विस्फोटक हो गई।

शुक्रवार को आए 100 मामलों में 3 डॉक्टर भी शामिल है। इनमें मेडिकल कॉलेज से हाल ही रिटायर हुए एक सीनियर डॉक्टर भी है, जो पिछली बार भी कोविड पॉजिटिव हुए थे और वैक्सीन की दोनों डोज भी ले चुके हैं। हालांकि उन्हें बहुत ज्यादा लक्षण नहीं है। वहीं आर्मी एरिया से भी कुछ मामले रिपोर्ट हुए हैं। शहर के अलग-अलग इलाकों में संचालित हॉस्टल्स में भी मरीज मिले हैं। दर्जनभर से ज्यादा बच्चे संक्रमित हैं।

एक संदिग्ध की मौत, एक मरीज भर्ती होकर भागा
मेडिकल कॉलेज के कोविड हॉस्पिटल में अब तक एक भी कोविड पॉजिटिव रोगी एडमिट नहीं है। यहां शुक्रवार को 10 रोगी एडमिट थे, ये सभी संदिग्ध के तौर पर भर्ती है। इन्हीं में से एक संदिग्ध की मौत हो गई। उधर, शुक्रवार को एक कोविड पॉजिटिव मरीज एडमिट हुआ, लेकिन वह खुद ही बिना सूचना दिए चला गया। अस्पताल प्रबंधन के मुताबिक, इस लहर में कोई मरीज भर्ती नहीं हुआ है।

मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ. विजय सरदाना ने बताया कि जिस हिसाब से दुनिया के अलग-अलग देशों के ट्रेंड सामने आ रहे हैं, उस हिसाब से यह लहर बहुत ज्यादा लंबी नहीं चलेगी। वहां के अनुभवों से हम यह मान सकते हैं कि कोटा में जनवरी के अंत में इस लहर का पीक होगा, इसमें कितने केस होंगे, यह अनुमान लगाना भी मुश्किल है। फरवरी के तीसरे सप्ताह से नए मरीज कम होने लगेंगे।

खबरें और भी हैं...